Monday, 27th February, 2017
चलते चलते

गरीब तबके के सॉफ्टवेयर इंजीनियरों ने सरकार से मांगी एक्स-बॉक्स और सोनी प्लेस्टेशन पर सब्सिडी

03, Sep 2016 By Pagla Ghoda

मुम्बई: गरीब तबके के सॉफ्टवेर इंजीनियरों ने इन्टरनेट पर एक मुहीम चलाई है जिसके तहत उन्होंने सरकार से एक्स बॉक्स और सोनी प्लेस्टेशन जैसी गेमिंग कंसोलपर भारी सब्सिडी की मांग की है।

घंटासिस सॉफ्टवेर सोलूशन्स में काम कर रहे एक इंजीनियर रोहित जंजाली ने इस बाबत फेकिंग न्यूज़ से बात की। उन्होंने कहा, “मैं कब तक कॉण्ट्रा और मारियो जैसे बचकाने गेम्स खेल के अपना दिल बहलाऊँ? कब तक मैं घटिया वाली फ्री ऑनलाइन गेम्स खेलकर खुश होता रहूँ? अब और नहीं सहा जाता। मुझे भी एक्स बॉक्स वाली धांसू शूटिंग गेम्स खेलनी हैं। जब कभी हमारी कॉलेज की री-यूनियन मीटिंग होती है तो मेरे “गूगल वाले” सॉफ्टवेर इंजीनियर दोस्त बस एक्स बॉक्स और प्ले स्टेशन की ही बातें करते हैं। जब वो मुझसे पूछते हैं “Dude did you check out Call of Duty on latest PS 4.5?” तो बस मुस्कुरा कर कह देता हूँ के टाइम नहीं मिला। पर अंदरही अंदर शर्मसार हो रहा होता हूँ। वो भी दोस्त हैं समझ जाते हैं के मेरी उतनी औकात नहीं। भरे बाजार बेस्ती हो जाती है भाईसाहब।”

सब्सिडी मिलने पर ऐसे ही गेम्स खेलेंगे लोग
सब्सिडी मिलने पर ऐसे ही गेम्स खेलेंगे लोग

आसूं पोंछते हुए रोहित ने आगे बताया, “हमारी सात-आठ लाख की सालाना सैलरी में ये सब गेम्स खरीदना संभव नहीं। घर का किराया, गर्लफ्रेंड की शॉपिंग आदि की बादले देके चार पांच सौ से ज़्यादा बचता नहीं है हर महीना। लेकिन हम भी इंसान हैं, हमारा भी दिल है। जब अनाज और अन्य ज़रूरी उत्पादों पर सरकार सब्सिडी देती है तोफिर इन गेम्स पर क्यों नहीं? मैं मोदी जी को ईमेल करके ये सुझाव दूंगा के अपने अगले “मन की बात” एपिसोड में वो हम गरीब सॉफ्टवेर इंजीनियरों के लिए कुछ ऐसेप्रावधान लाएं।”

रोहित की गर्लफ्रेंड शिल्पा नें भी इस बारे में अपने विचार व्यक्त किये। उन्होंने कहा, “देखिये मैं तो ये सब गेम्स खेलती नहीं। मेरा तो जब भी मूड ऑफ होता है तो दस बारह हज़ार की शॉपिंग कर लेती हूँ, जी हल्का हो जाता है। लेकिन लड़को की, खासकर सॉफ्टवेर आई टी वालों की बात कुछ अलग है। जिस प्रकार आम लोगों को जीवित रहने के लिए गेहूं की ज़रुरत होती है उसी प्रकार एक सॉफ्टवेर इंजीनियर को गेमिंग की ज़रुरत होती है। सॉफ्टवेर वाला जब कोडिंग नहीं कर रहा होता तो वो या तो ट्विटर पे पोलिटिकल लड़ाई लड़ रहा होता है या फिर कोई न कोई कंप्यूटर गेम खेल रहा होता है। मैं भी मोदी जी से आग्रह करुँगी के इन बेचारों के लिए अपने विकासप्लान में कुछ गेमिंग संबंधित योजनाए लाएं।”

हालाँकि सभी विषयों पर पुरज़ोर बोलने वाले पीएम ऑफिस ने इस विषय पर कोई भी टिपण्णी करने से इनकार कर दिया है, पर इस न्यूज़ आर्टिकल के लिखे जाने तक खबर आ रही थी के दिल्ली के मुख्यमंत्री श्री केजरीवाल जी ने इस विषय को लेकर काफी चिंता व्यक्त की है। उन्होंने ने ये भी दावा किया है के कुछ ही समय में जब वो दिल्ली वालों को फ्री वाईफाई का पासवर्ड बताएँगे उसके तुरंत बाद दिल्ली के सभी सॉफ्टवेर इंजीनियरों को फ्री एक्स बॉक्स भी बांटे जायेंगे।



ऐसी अन्य ख़बरें