Sunday, 19th February, 2017
चलते चलते

बाहुबली शहाबुद्‍दीन ने जेल मे शुरू किया शराब सत्याग्रह, रॉयल स्टैग पीकर तोड़ा शराबबंदी क़ानून

21, Oct 2016 By bapuji

सिवान. पूर्व सांसद और विधायक बाहुबली शहाबुद्दीन एक बार फिर सुर्ख़ियो मे आ गये जब उन्होने सिवान जेल मे अपने समर्थको के साथ शराब वाला सत्याग्रह शुरू करने का एलान किया। बताया जाता है कि शहाबुद्दीन मुन्ना भाई की फिल्म देखकर राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी के विचारो से बहुत प्रभावित हुए और अब उन्होने सत्याग्रह की शक्ति को पहचान लिया है और जिस तरह से महात्मा गाँधी ने दांडी यात्रा के बाद समुद्रा तट पर नमक बनाकर अंग्रेज़ो के बनाए नमक क़ानून को तोड़ा था उसी प्रकार शहाबुद्दीन जेल मे शराब को पीकर नीतीश सरकार के नये शराब बंदी क़ानून को तोड़ेंगे।

पौआ माँगते शहाबुद्दीन
पौआ माँगते शहाबुद्दीन

भारी मीडिया की मौजूदगी में जैसे ही शहाबुद्दीन ने रॉयल स्टेग के चन्द पैग पीकर शराब बंदी क़ानून को तोड़ा वैसे ही जेल का पूरा सभागार तालियों की गड़गड़ाहट से गूँज उठा। जेल के कैदियों को संबोधित करते हुए उन्होनें कहा कि “उनके इस सत्याग्रह का उद्देश्य नीतीश कुमार का हृदय परिवर्तन करना है और वो नीतीश के साथ बैठकर पीना चाहते है।” उन्होनें मुस्कुराते हुए कहा की “खूब जमेगा रंग जब मिल बैठेंगे तीन यार, आप, मैं, और बैगपाइपर क्लब सोडा।” उनके साथ जेल के अन्य क़ैदियो ने भी देशी पौवा और दूसरी भिन्न प्रकार की शराब को पीकर अपने सत्याग्रही नेता का समर्थन किया। जब जेलर घंटा सिंह ने शहाबुद्दीन से कहा कि उन्हें क़ानून के अनुसार इस जुर्म की सज़ा मिलेगी तो वहाँ मौजूद सभी लोग ज़ोर ज़ोर से हँसने लगे।

वही पूरे अहिंसक हो चुके शहाबुद्दीन ने बिना किसी क्रोध के जेलर को शांति से जवाब दिया – “ठीक है ! खाते मे लिख लेना”। सूत्रों के अनुसार इस जुर्म को शहाबुद्दीन की 150  पन्नो की चार्ज शीट के एक कोने मे दर्ज कर दिया गया है। क़ानून के जानकरो की माने तो सरकार के सामने इस सत्याग्रह से एक विचित्र समस्या उत्पन्न हो गयी है “ये लोग तो पहले से ही जेल मे है इनका क्या करें!”- चीफ सेक्रेटरी ने फेकिंग न्यूज़ के संवाददाता को बताया। वहीं जब मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से इस बारे मे पूछा गया तो उन्होने खिसियाते हुए कहा -” ज.द.यू. की जड़ें इतनी कमजोर नहीं हैं कि ऐसे सत्याग्रहों से हिल जाए। हम पता लगाएँगे की साला जेल में दारू आ कहाँ से रही है और ये बाहुबली कब से सत्याग्रही बन गया।”



ऐसी अन्य ख़बरें