Sunday, 17th December, 2017

चलते चलते

मार्क्स कम आने पर भी माँ बाप ने नहीं दिया मोबाइल को दोष, 'Parents of the year' घोषित

06, Oct 2016 By banneditqueen

इंदौर. बच्चा स्टूडेंट आॅफ द ईयर बने ऐसा तो सभी माँ बाप चाहते हैं पर इंदौर के एक बच्चे के कारण उसके माँ बाप “Parents of the year” बन गए। मीठी बाई स्कूल में दसवीं कक्षा में पढ़ने वाले नमन की पिछले महीने परीक्षा थी, आज उसका परिणाम आने वाला था। कुछ दोस्तों ने नमन को पहले ही परिणाम की जानकारी दे दी थी। जैसे ही नमन को पता चला कि उसके मार्क्स कम आए हैं वह परेशान होने लगा।

क्लास में फोन का इस्तेमाल करता नमन
क्लास में फोन का इस्तेमाल करता नमन

उसे लगा कि अब मम्मी पापा उसका फोन और लैपटाॅप अपने पास रख लेंगे। नमन के दोस्त वरुन के साथ भी यही हुआ था। पिछले साल जब वरुन के मार्क्स कम आए थे तब उसके माँ बाप ने सारा दोष उसके फोन पर डाल दिया और कहा ”यह फोन ही सारी मुसीबत की जड़ है।” यही नहीं वरुन से कोई भी गलती होती तो वह सारा दोष उसके फोन पर डाल देते। जब नमन रिज़ल्ट लेने के लिये तब  उसने डर के कारण अपना फोन भी साथ नहीं रखा कि कहीं मम्मा पापा कम मार्क्स आने के बाद फोन देखकर भड़क ना जाएं।

जब रिज़ल्ट लेकर सब लोग घर आए तब नमन डरा हुआ था। माँ ने कहा ”कोई बात नहीं बेटा, अगली बार और मन लगाकर पढ़ना।” नमन बेहद आश्चर्यचकित हो गया, उसे उम्मीद थी कि माँ और पापा दोनों से डाँट पड़ेगी पर ऐसा नहीं हुआ। अगले दिन स्कूल आकर उसने इस घटना के बारे में सब को बताया तो सब हैरान रह गये। धीरे धीरे यह खबर पूरे स्कूल में फैल गई। टीचर्स को जब इस बात का पता चला तब उन्होनें नमन के माँ बाप को इस साल के ऐनुअल फंकशन में ”पैरेन्ट्स आॅफ द ईयर” पुरुस्कार देने की घोषणा कर दी। इस वर्ष के अंत में दोनों को यह पुरुस्कार दिया जाएगा।



ऐसी अन्य ख़बरें