Friday, 24th March, 2017
चलते चलते

पाकिस्तानी चायवाले और नेपाली तरकारीवाली की शोहरत देख स्ट्रगलिंग मॉडल बना कचरेवाला, मिले 10 मॉडलिंग कॉन्ट्रैक्ट

07, Nov 2016 By banneditqueen

मुम्बई. कहते हैं मुम्बई सपनों का शहर है और यह रोज़ाना हज़ारों लाखों लोग अपने सपने पूरे करने आते हैं। ऐसे ही दिल्ली से पाँच साल पहले इंटरनैशनल मॉडल बनने की चाहत लिये सत्रह वर्षीय संदीप मुम्बई आया। कई ऑडिशन्स में धक्के खाने के बाद भी उसे कोई सफलता हाथ नहीं लगी। उसने मॉडलिंग का सपना छोड़ टीवी सीरियल्स में किस्मत आज़मानी शुरू की।

देने वाला जब भी देता देता छप्पर फाड़ के
देने वाला जब भी देता देता छप्पर फाड़ के

तकरीबन डेढ़ सौ ऑडिशन्स देने के बाद उसे एक लोकल मराठी चैनल में में एक मिनट का रोल मिला। सीरियल्स के साथ साथ उसने अपना मॉडलिंग करने का सपना जारी रखा। वह ऑडिशन पर ऑडिशन देता रहा, पाँच साल बीत जाने के बाद भी उसे कोई ढंग का कॉन्ट्रैक्ट नहीं मिला। कुछ दिनों पहले ही उसने पाकिस्तानी चायवाले के बारे में सोशल मीडिया पर पढ़ा तो वह हैरान रह गया और सोचने लगा “साला मैं यहाँ पाँच साल से चप्पल घिस रहा हूँ और मुझे गली का कुत्ता भी नहीं जानता और ये पाँच मिनट में मशहूर हो गया।”

इस सदमे से संदीप उबरा ही था तभी नेपाली तरकारीवाली के बारे में पढ़ा। अब संदीप ने फैसला कर लिया कि वह भी सोशल मीडिया पर धमाका करेगा। उसने कुछ दिन बाद कचरा इकठ्ठा करना शुरू कर दिया, वह जानबूझ कर ऐसी जगहों के पास से कचरा उठाता जहाँ युवक-युवतियों की भीड़ होती। आखिरकार उसकी तरकीब रंग लाई और एक सोशल मीडिया यूज़र ने उसकी फोटो लेकर अपलोड कर दी। कुछ ही दिनों में वह हर तरफ मशहूर हो गया और उसे कई सारे मॉडलिंग कॉन्ट्रैक्ट मिल गए। हालांकि कई डाइरेक्टर्स और साथी मॉडल्स ने उसे पहचान लिया और उसका भांडा फोड़ दिया।



ऐसी अन्य ख़बरें