Saturday, 24th June, 2017
चलते चलते

कई महीनों से फोन की ज़िद कर रहे बच्चे को Online पॉकेटमनी के लिये मिला फोन, मोदी को दिया श्रेय

03, Jan 2017 By banneditqueen

भोपाल. सेंट मेरी में पाँचवी कक्षा में पढ़ने वाला मयंक अगरवाल पिछले साल से जिस चीज़ की माँग कर रहा.था आखिरकार वो पूरी हुई। आप सोच रहे होंगे कि न्यू ईयर या क्रिसमस का तोहफा होगा। परंतु यह मोदी सरकार के कारण मिला तोहफा है। मयंक के दोस्त आयुष को जब पिछले वर्ष स्मार्टफोन मिला तब से उसके मन में भी स्मार्टफोन रखने की इच्छा जाग उठी।

फोन पाकर खुश होता मयंक
फोन पाकर खुश होता मयंक

पहले मम्मी को समझाने की कोशिश की फिर जन्मदिन पर फोन की माँग की पर सारी कोशिशें बेकार। कई दिनों तक गुस्सा रहने का नाटक भी किया पर फिर भी कोई असर नहीं पड़ा। नोटबंदी के बाद से ही मोदी सरकार ने ऑनलाइन पेमेंट या यूँ कहें कि कैशलेस इकॉनमी पर ज़ोर देना शुरू कर दिया। कैश ना होने के कारण मयंक के पिता को फोन ना दिलाने का नया बहाना भी मिल गया। नोटबंदी के बाद से कैश कि किल्लत से जूझ रहे मयंक के पिता मुकेश ने भी उसे पॉकेटमनी देना बंद कर दिया।

कई बार मुकेश अपना डेबिट कार्ड उसे दे देते। पर मयंक पचास की जगह 500 रुपये खर्च कर आता। इन सब से परेशान मयंक के पिता ने उसे खूब डाँट लगाई कब मयंक ने जवाब दिया “मैं क्या करूँ आप कैश नहीं दे रहे और अब कार्ड भी नहीं। कुछ दुकानदार आनलाइन पेमेंट ले रहे हैं पर मेरे पास तो स्मार्टफोन भी नहीं है।”अपने अकाउंट से पैसा लुटता देख मुकेश को आखिरकार मयंक के लिये स्मार्टफोन लेना ही पड़ा। ऑफिस से घर आते वक्त मुकेश ने मयंक के लिये फोन खरीदा। जब मयंक को पता चला कि फोन उसे अॉनलाइन पॉकेट मनी के लिये मिला है तब वह मोदी जी का शुक्रिया करने लगा।



ऐसी अन्य ख़बरें