Sunday, 22nd October, 2017

चलते चलते

मोबाइल डाटा खत्म होने पर उड़ गया मेन बैलेन्स, 0 बैलेन्स देख युवक को पड़ा दिल का दौरा

22, Oct 2016 By banneditqueen

भोपाल. टी.आई.टी. कॉलेज के 21 वर्षीय छात्र सौरभ को कल सुबह दिल का दौरा पड़ने के चलते अस्पताल में भर्ती करना पड़ा। परिवार वाले और दोस्त सभी अस्पताल के सामने जमा थे। सबको इसी बात का आश्चर्य था कि इतनी कम उम्र में दिल का दौरा कैसे पड़ सकता है। सौरभ के दोस्त पवन ने बताया “सौरभ को तो कभी कोई टेंशन भी नहीं होती, परीक्षा के एक दिन पहले भी वह पी के टल्ली पड़ा होता था। कितनी भी बड़ी परेशानी हो वह हमेशा चिल्ड आउट रहता था।” वहीं सौरभ की माँ यह सोच के परेशान थी कि कहीं सौरभ का कोई अफेयर तो नहीं चल रहा था।

बैहोश पड़ा सौरभ
बैहोश पड़ा सौरभ

शाम को डॉक्टर ने ICU से बाहर आ कर कहा “सौरभ अब खतरे से बाहर है आप लोगों में से कोई भी एक व्यक्ति जाकर उनसे मिल सकता है।” सौरभ की माँ सबसे पहले अंदर की तरफ भागीं। अंदर जाते ही सौरभ को दख कर फूट फूट कर रोने लगी। डॉक्टर ने उनहें कहा कि “आपका इस तरह से रोना ठीक नहीं, पेशेंट को तनाव हो सकता है।” सौरभ की माँ रोते हुए बाहर आ गईं, उसके बाद सौरभ का दोस्त पवन अंदर गया। सौरभ ने फिर नवीन को पूरी कहानी बतायी।

सौरभ ने कहा “यार मैं कल रितिका से मिलने घर से डी. बी. मॉल जा रहा था, हाथ में गिफ्ट्स होने के चलते फोन बैग में ही रखा था। मॉल पहुँचकर मैनें रितिका को फोन लगानेे के लिये फोन बैग से निकाला। नम्बर डायल किया तो ऑपरेटर ने जवाब दिया ‘यू हैव इनसफ्फिशियेंट बैलेंस टु मेक दिस कॉल’ मैं टेंशन में आ गया। तभी मोबाइल की स्क्रीन पर ध्यान गया तो देखा कि पूरे ३०० रुपये डाटा में उड़ गये। घर में वाई- फाई चल रहा था, जब बाहर निकला तो वाई फाई बंद हो गया और इंटरनेट डाटा चलने लगा और सारा बैलेन्स खत्म हो गया। बस यही देखते ही मेरे होश उड़ गये और कब हार्ट अटैक आया पता ही नहीं चला।”

जब यह खबर सबको बाहर पता चली तो सब मन ही मन सोचने लगे कि उनके साथ भी कई बार ऐसा होता है कहीं उनहें भी हार्ट अटैक ना आ जाए।



ऐसी अन्य ख़बरें