Thursday, 17th August, 2017

चलते चलते

समोसे बेचने वाले के बेटे की IIT में 64th रैंक,खबर सुन एक पिता ने लाखों का बिज़नेस छोड़ समोसा बेचना शुरू किया

13, Jun 2017 By banneditqueen

हैदराबाद. रविवार को जेईई एडवांस्ड 2017 परीक्षा का रिजल्ट घोषित किया गया। जहाँ इस बार फिर से लड़कों ने बाज़ी मारी वहीँ कुछ ऐसे गुदड़ी के लाल भी सामने आए जिनके संघर्ष की कहानी सुनकर आँखें नम हो जाएंगी। ऐसे ही एक समोसा बेचने वाले के बेटे ने IIT में 64th रैंक हासिल की, मोहन अभ्यास नामक इस युवक ने गरीबी और मुश्किलों का सामना कर IIT में ये स्थान हासिल किया।

mohan abhyaasपर इससे भी ज़्यादा अचम्भे की बात यही है कि इस कहानी को जानने के बाद गुजरात के मशहूर व्यापारी जिनका लगभग लाखों करोड़ों का व्यवसाय है उन्होंने अपना बिज़नेस छोड़कर समोसा बेचना शुरू कर दिया। जेठालाल गढ़ा नामक इस व्यक्ति से फेकिंग न्यूज़ ने ख़ास बातचीत की। जेठालाल ने बताया कि ”कल जब मैंने मोहन की खबर सुनी तो मैंने अपने बेटे से कहा ‘देख इसे! बेचारा इतना गरीब है फिर भी उसने इतनी कठिन परीक्षा पास की, और तुू, ए.सी, कूलर, आरामदायक बिस्तर क्या नहीं है फिर भी बारहवीं तक पास नहीं कर पा रहे हो। इसके बाद मेरे बेटे ने जो पलट कर जवाब दिया उस पर मैं कुछ बोल ही नहीं पाया।”

तब हमने उनके बेटे से बात की, उसने बताया ”पापा बोले जा रहे थे इस लड़के को देखो इसके पापा समोसा बेचते हैं और तुम अपने आप को देखो! तो मैंने भी बोल दिया पहले आप बताओ आप समोसा कब बेच रहे हो। उम्मीद तो थी कि चप्पल से पिटाई होगी पर पापा ने तुरंत अपने वकील को कॉल कर के कहा कि वो अपनी सारी जायदाद किसी को दान करना चाहते हैं और समोसे की दुकान खोलेंगे। अब मुझे दुःख हो रहा है कि मैंने जवाब ही क्यों दिया चुपचाप अपने कमरे में पढ़ने चला जाता।”



ऐसी अन्य ख़बरें