Thursday, 14th December, 2017

चलते चलते

वायुसेना के लड़ाकू जहाज हमारी सड़कों पर उतरने वाले थे, गलती से उत्तर प्रदेश चले गए :मामाजी

25, Oct 2017 By Ritesh Sinha

वाशिंगटन डीसी. लगता है मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री, शिवराज सिंह चौहान को डोनाल्ड ट्रंप की नज़र लग गई है, जब से अमेरिका पहुंचे हैं, बहकी-बहकी बातें कर रहे हैं। कल उन्होंने एक समारोह में यह दावा कर दिया था कि मध्य प्रदेश की सड़कें वाशिंगटन की सड़कों से भी अच्छी हैं। ये तो अच्छा हुआ कि जहाँ वे बोल रहे थे, वहां बड़ी मात्रा में भारतीय मौजूद थे, वरना अमेरिकियों की संख्या ज्यादा होती तो लेने के देने पड़ जाते।

शिवराज जी यह क्या बोल गए
शिवराज जी यह क्या बोल गए

एक कदम और आगे जाते हुए आज उन्होंने दावा किया है कि कल वायुसेना के जो विमान सड़कों पर उतारे गए थे, वो दरअसल भोपाल की एरिया कॉलोनी में उतरने वाले थे। लेकिन विमान के पायलट बीच में ही रास्ता भूल गए और गलती से आगरा-लखनऊ हाईवे पर उतर गए।

इस बारे में और ज्यादा जानकारी के लिए हमने मुख्यमंत्री जी से फोन पर बातचीत की, फोन पर भी वे लंबी-लंबी हांक रहे थे। उन्होंने दावा किया कि, “एक महीना पहले वायुसेना के अधिकारी मुझसे मिलने आए थे, बोले कि, “मध्य प्रदेश की सड़कें सबसे अच्छी हैं, हम यहाँ पर अपने फाइटर प्लेन उतारना चाहते हैं!” तो मैंने कहा- “उतार लीजिए! इसीलिए तो हमने बनाया है, आपको बहुत मज़ा आएगा!”

“लेकिन कल मैंने टीवी पर देखा तो पता चला कि पायलट मध्य प्रदेश की सड़कों पर नहीं उतर रहे हैं! सब के सब रास्ता भूल गए और सीधे उत्तर प्रदेश निकल गए! मुझे बहुत गुस्सा आया! इन नौसीखिए पायलटों की वजह से हमारी सड़कों के स्वाभिमान को ठेस पहुंची है! मैं भारत पहुँचते ही इस मुद्दे को मोदी जी के सामने उठाऊंगा!”-उन्होंने आगे बताया।

“ऐसा कैसे हो सकता है? पायलट रास्ता भूल गए और किसी को पता ही नहीं चला?” -ऐसा पूछे जाने पर मुख्यमंत्री जी ने आगे बताया कि, “..तो क्या मैं झूठ बोल रहा हूँ! मध्य प्रदेश की बराबरी कोई नहीं कर सकता! आपको पता है, ताजमहल भी मध्य प्रदेश के संगमरमर से ही बनाया गया है, अगर हम लोग संगमरमर नहीं देते तो ताजमहल “अढ़ाई दिन का झोफड़ा” बन जाता!” इतना सुनते ही हमारे रिपोर्टर को चक्कर आने लगा, और उसे मजबूरी में फोन काटना पड़ा।



ऐसी अन्य ख़बरें