Sunday, 20th August, 2017

चलते चलते

"कुछ नहीं पढ़ा" बोलकर परीक्षा में अव्वल नम्बर लाने वालों पर होगी कार्रवाई

24, Feb 2017 By banneditqueen

भोपाल. गोविंदपुरा के एक स्कूल ने एक अनोखा फरमान जारी किया है। स्कूल के प्रिंसिपल ने फेकिंग न्यूज़ को बताया कि “हर वर्ष एग्जाम्स के पहले बच्चे जब आपस में बातचीत करते हैं तो उसमें कई बच्चे ऐसे होते हैं जो कि हर परीक्शा के पहले यही बोलते फिरते हैं कि ‘हमने कुछ नहीं पढ़ा’, ‘कुछ भी नहीं आता’ फिर भी जब उनकी कॉपियाँ जाँच होकर आती हैं तो वे अव्वल नम्बरों से पास होते हैं। ऐसे छात्रों पर धोखा धड़ी करने के चलते कार्यवाई की जाएगी।”

ऐसे पढ़ाकू छात्र हर परीक्षा के पहले झूठ बोलते हैं
ऐसे पढ़ाकू छात्र हर परीक्षा के पहले झूठ बोलते हैं

बताया जाता है कि यह सब कक्षा ग्यारहवीं में पढ़ने वाले छात्र रमन चतुर्वेदी के कारण हुआ है। रमन ने हमें बताया कि “मेरे क्लास के जो टॉपर्स हैं उन्हें एग्ज़ाम के पहले जब भी कॉल करो तो वो यही बोलते हैं कि ‘हमने तो अभी तक कुछ भी नहीं पढ़ा’, ‘चार चैप्टर छोड़ दिये’, ‘कुछ भी याद नहीं’ या परीक्शा होने के बाद बोलेंगे कि ‘पेपर छूट गया’, ‘कुछ भी लिख के नहीं’ आए या फिर ‘पेपर बेकार गया’। अब उनके ऐसा बोलने के बाद हम जैसे लोगों में थोड़ा कॉन्फिडेंस आ जाता है कि चलो अगर मार्क्स कम आए तो बोल देंगे कि क्लास टॉपर्स के भी कम आए। पर जा कॉपियाँ चेक होकर आती हैं तो फुल मार्क्स! इन लोगों से पूछो तो कहेंगे कि ‘पता नहीं कैसे आ गए’। पिछले कई सालों से यह धोखाधड़ी जारी है। और अब वक्त आ चुका था कि इनका खुलासा किया जाए।

दरअसल रमन ने इन सभी बच्चों की बातें रिकॉर्ड की और जब रिज़ल्ट आया तो जिस भी बच्चे के मार्क्स बहुत ज्यादा थे उसकी शिकायत की। कई अन्य बच्चों ने भी यही कहा कि टॉपर्स उन्हें गुमराह करते हैं। इस घटना के बाद स्कूल के प्रिंलिपल और टीचर्स ने फैसला किया कि अब से जो भी झूठ बोलेगा उस पर कार्यवाई होगी।



ऐसी अन्य ख़बरें