Thursday, 18th January, 2018

चलते चलते

चम्मच चोर पत्रकार ने कहा ''हम तो अपने ही चम्मच वापस ला रहे थे जिन्हें सालों पहले अँग्रेज़ ले गए थे''

11, Jan 2018 By banneditqueen

कोलकाता. लोकतंत्र का चौथा खम्बा मतलब की मीडिया से भी कई बार गलतियां हो जाती हैं। कल ही खबर आई कि ममता बैनर्जी के साथ लन्दन गए कुछ पत्रकारों ने CCTV की मौजूदगी में होटल से न सिर्फ चम्मच चुराए बल्कि पकड़े जाने पर साफ़ इंकार कर दिया। लन्दन से यह खबर जब भारत आई तब भारतीय काफी शर्मिंदा महसूस कर रहे थे। पर जब पत्रकारों ने चोरी करने पर सफाई दी तो सभी लोगों ने उनका समर्थन किया।

ये हैं सच्चे देशभक्त
ये हैं सच्चे देशभक्त

पत्रकार जब भारत लौटे तब उन्हें भारतीय मीडिया ने घेर लिया और सवाल जवाब करने लगे। एक पत्रकार बिना कोई जवाब देते हुए बाहर चले गए, कुछ मीडिया से कन्नी काटते हुए नज़र आए। वहीँ एक दूसरे पत्रकर ने झुंझलाते हुए मीडिया को जवाब दिया कि ”आप सब को शर्म आनी चाहिए, अंग्रेज़ों ने हम पर 200 साल राज किया, हमारे देश को लूटा पर जब मैंने उन्हें जाकर लूटा तो आपको इतनी दिक्कत है। आपको किसी भी मीडिया चैनल ने यह नहीं बताया होगा कि जो कटलरी उस होटल में रखी थी वो हमारे ही देश की थी।”

पत्रकार ने आगे बताया कि ”मैंने जैसे ही वो कटलरी देखी तो मेरे मन में देशप्रेम जाग गया। मैंने सोचा कि इन अंग्रेज़ों ने हमारे देश को लूटा अब मैं इन्हे लूटूँगा। बस ऐसा सोचकर मैंने चम्मच उठा लिए। जब उन्होंने आकर पूछताछ की तो मैंने सोचा कि जब ये अँग्रेज़ हमारे देश से चीज़ें उठाकर ले गए थे तब हम भारतीयों ने तो पूछताछ नहीं की थी तो इन्हें क्या हक़ बनता है इस बात का ? यही सोच के मैंने साफ़ इंकार कर दिया कि मैंने चम्मच नहीं लिए। वो तो बाद में पता चला कि वहां कैमरा लगा हुआ था।” इतना कहकर पत्रकार जी ”इंकलाब ज़िंदाबाद” का नारा लगाते हुए आगे निकल गए।



ऐसी अन्य ख़बरें