Thursday, 26th April, 2018

चलते चलते

इसरो के शोधकर्ताओं को मिला असीमित ऊर्जा का नया स्रोत, उठवा लिया रणवीर सिंह को

10, Feb 2018 By aashcharya janak

मुंबई. सोमवार सुबह रणवीर सिंह को शूटिंग पर ना पाकर उनके प्रोड्यूसर्स ने जब उनकी माँ से संपर्क किया तो उन्हें पता चला की रणवीर तो कल रात से घर नहीं आये हैं। वह सकते में तब आ गए जब दीपिका ने भी जवाब दे दिया “मुझे पता नहीं। आज मेरी कामवाली आयी थी, तो रणवीर की ज़रूरत नहीं पड़ी” जब हमने यह खबर अपने चैनल पर दिखाई तब हमारे स्टुडियो से एक कॉल आया। भारत को अंतरिक्ष में ले जाने वाली संस्था इसरो ने इस हमले की ज़िम्मेदारी लेते हुए बताया – “हमने ही रणवीर को अगवा किया है। उन पर प्रयोग किये जा रहे हैं।” इसरो के खरीद-फरोख्त विभाग के निर्देशक पंकज कपूर (जो की अंशकालिक अभिनेता भी हैं) ने हमें आगे बताया – “रणवीर को उठाना काफी कठिन था। इसके लिए हमें उत्तरी भारत से पेशेवर अपहरणकर्ताओं की टीम का गठन करना पड़ा।”

अंदर से ऊर्जा निकलते रणवीर
अंदर से ऊर्जा निकलते रणवीर

अगवा करने का कारण बताते हुए उन्होंने बोला “दरअसल हमारे शोधकर्ता हमेशा ऊर्जा के नए स्रोत की खोज में जुटे रहते हैं। कुछ जवान वैज्ञानिकों ने बताया कि  उनके बॉलीवुड के एक शख़्स के अंदर अनन्त ऊर्जा होने के संकेत मिले हैं। हमने तुरंत ही रणवीर को अपने मंगल गृह के अगले मिशन के लिए नियुक्त करने का फैसला कर लिया। यह राकेट के ईंधन के मुक़ाबले काफी प्रबल और दक्ष हैं। इनमें ऐसी ऊर्जा है जो ख़तम ही नहीं होती है। यह मंगल पर केवल जाने का ही नहीं, बल्कि राकेट को वहाँ से वापस लाने का भी बल रखते हैं। साथ ही में यह एक स्वच्छ स्रोत हैं जो की ज़्यादा धुआँ नहीं छोड़ते। हमें अपने अगले मंगलयान के लिए ऐसे ही किसी ‘एनर्जी सोर्स’ की आवश्यकता थी। इनके रहने से हमें किसी अंतरिक्ष यात्री को भेजने की भी ज़रूरत नहीं है। हमें अपने वैज्ञानिकों की काबिलियत पर गर्व है जिन्होंने आज इस खोज से वह कर दिखाया है जो अमेरिका और रूस जैसे देश भी नहीं कर पाए।” उन्होंने तो यहाँ तक भी कहा की अगर हम और उच्च तकनीक के यान बनाने में कामयाब हुए तोह रणवीर की बदौलत हम मंगल तो क्या बुध, शुक्र, शनि, कहीं भी पहुँच सकते हैं।

यह खबर आई ही थी कि इस पर भी विवाद छिड़ गया। इंटेलेक्चुअल सोसाइटी ऑफ़ दिल्ली ने कोर्ट में पिआईएल दायर की है जिसमें उनका कहना है की “रणवीर अगर मंगल गृह पे पहुँचते हैं तो मंगलवासिओं के ऊपर धरती की बुरी छवि बनेगी और वह हमें जज (judge) करेंगे। उन्हें लगेगा की हम सारे धरतीवासी ऐसे ही हैं और वह लोग हम पर हमला कर सकते हैं।” वहीं वन विभाग और जानवरों की सुरक्षा संस्था पीटा (PETA) ने इसकी कड़ी आलोचना करते हुए कहा “रणवीर जैसे प्राणियों की प्रजाति लुप्त होने की कगार पर है। ऐसे में  इन्हें अंतरिक्ष में भेजे जाने पर हम कड़ी आपत्ति जताते हैं।” जब हमने इस बात की खबर रणवीर के घर पर दी तो उनकी माँ की आँखों में आंसू आ गए। पूछने पर पता चला की दरअसल यह तोह ख़ुशी के आंसू हैं। उनकी माँ ने हमें बताया “मुझे पता था की आगे चल कर रणवीर एक दिन बहुत ऊपर जायेगा। मुझे उसकी क्षमता पर पूरा विश्वास है। ” फेकिंग न्यूज़ दुआ करता है की रणवीर की यह यात्रा ‘मंगलमय’ हो !!



ऐसी अन्य ख़बरें