Sunday, 28th May, 2017
चलते चलते

हॉरर मूवी देखने के बाद भी अंधेरे में सोया युवक, मिलेगा ब्रेवरी अवार्ड

29, Nov 2016 By banneditqueen

लखनऊ. अक्सर हॉरर मूवी देखने के बाद हमारी रातों की नींद उड़ जाती है। कुछ दिनों तक रात में हर कमरे की लाइट जलाकर सोना मजबूरी हो जाती है। रात में डरावने सपने और कहीं भी अँधेरा देख हमारा मन डरावने चेहरों की कल्पना करने लगता हैं। राजाजीपुरम में रहने वाले चार दोस्तों ने शनिवार रात को हॉरर मूवी मैराथन प्लान किया। द शाइनिंग, एक्सॉर्सिज्म से लेकर इस साल आई कांज्यूरिंग सारी मूवीज़ लूप पर डाल दी।

मूवी देखकर डरता राजू
मूवी देखकर डरता राजू

रात भर मूवीज़ देखते देखते चारों दोस्त कब सो गए पता ही नहीं चला। अगली रात सबसे ज्यादा डरपोक दोस्त मदन कमरे की लाइट बंद करके सो गया। वहीं बाकी तीनों दोस्त करवटें बदल रहे थे, बाकी तीनों दोस्त (राजू, परम और मंटू) आधी रात को अपने कमरे से बाहर निकले और चर्चा करने लगे कि उन्हें मूवी देखने के बाद डर लग रहा है। राजू ने कहा “ये मदन ने भी तो पिच्चर देखी थी ना फिर ये कमरे की लाइट बंद कर के आराम से कैसे सो रहा है? ये तो साला सबसे ज़्यादा डरपोक है। पिछले साल जब हमने राज़ पिक्चर देखी थी तब पूरा दो महीनें लाइट जलाकर सोया था।”

अगले दिन जब मदन सोकर उठा तो सबने उससे पूछा कि उसको डर कैसे नहीं लग रहा। मदन ने जवाब दिया ” अबे यार ये भूत आत्मा वगैरह कुछ नहीं होता तुम लोग भी क्या बच्चों की तरह डर रहे हो।” मदन में आए इस बदलाव की चर्चा हर तरफ होने लगी। सभी यह जानकर हैरान थे। बात इतनी फैल गई कि मदन को ब्रेवरी अवार्ड के लिये नॉमिनेट कर दिया गया। अगले वर्ष 26 जनवरी के दिन राष्ट्रपति द्वारा सम्मानित उसे किया जाएगा। मदन ने बाद में इस बात का खुलासा किया कि उस रात उसने एक भी मूवी नहीं देखी थी बल्कि वह डर के मारे पहले ही सो गया था।



ऐसी अन्य ख़बरें