Sunday, 19th November, 2017

चलते चलते

हर्षा भोगले को मिलेगा भारत रत्न, मांजरेकर और रवि शास्त्री के बीच इतने सालों रहना छोटी बात नहीं

15, Oct 2017 By Ritesh Sinha

मुंबई. माना जा रहा है कि प्रसिद्द क्रिकेट कमेंटेटर हर्षा भोगले को इस साल भारत रत्न का पुरूस्कार मिल सकता है। हर्षा पिछले 25 सालों से लगातार कमेंट्री करते आ रहे हैं, और सबसे बड़ी बात ये है कि, इस दौरान उन्होंने रवि शास्त्री और संजय मांजरेकर के साथ कमेंट्री की है। अपने कैरियर में इतने दिनों तक शास्त्री और मांजरेकर के साथ रहने के बावजूद, वो हमेशा होश में रहते हैं, और आज तक उन्हें कुछ नहीं हुआ है। दिमाग के डॉक्टर्स इसे एक चमत्कार मानते हैं। यही वजह है कि वे इस साल भारत रत्न की दौड़ में सबसे आगे चल रहे हैं।

manjrekar shastri
manjrekar shastri

वैसे कुछ लोगों का यह भी कहना है कि धोनी को भारत-रत्न मिलना चाहिए, लेकिन ऐसे लोगों को क्रिकेट के बारे में कुछ पता ही नहीं है। हर्षा के स्टैमिना के आगे धोनी-वोनी हवा में उड़ जाएँगे।

क्रिकेट को बेहद पसंद करने वाले एक देशी फैन, सुधीर गिल्लीवाला ने फेकिंग न्यूज़ को बताया कि, “देखिए! मैंने गावस्कर से लेकर पंड्या तक सबको मैदान में खेलते हुए देखा है, लेकिन मैदान के बाहर एक ‘हर्षा’ ही हैं, जो कभी आउट नहीं हुए। रवि शास्त्री को आप दस मिनट झेलकर बताइए! ऊपर से मांजरेकर, नीम में करेले का काम करता है! इनके अलावा सिद्धू, डैनी, लक्ष्मण, सबको झेला है इस बंदे ने! बेचारा पच्चीस साल से इन सब को सहन कर रहा है! इसे कहते हैं हिम्मत, शौर्य और समर्पण! और क्या चाहिए? भारत रत्न पकड़ाओ इसे!” -उन्होंने हर्षित मन से बताया।

इस बीच, हर्षा भोगले ने फेकिंग न्यूज़ से विशेष बातचीत की है। जब हमने उनसे पूछा कि, दस और दस कितने होते हैं?” तो हर्षा ने झट से जवाब दिया कि, “बीस होते हैं!” उनके इस जवाब से स्पष्ट होता है कि विपरीत माहौल में रहकर, आज भी वे एकदम स्वस्थ्य हैं। साथ ही उन्होंने खुलासा किया कि यह अवार्ड पाने के लिए, वे किसी जुगाड़ का सहारा नहीं ले रहे हैं, बल्कि ये आम जनता की आवाज है कि उन्हें भारत-रत्न मिलना चाहिए।

वहीँ, अमिताभ बच्चन इस खबर से नाराज बताए जा रहे हैं, वे पहले भी ट्विटर में हर्षा को आड़े हाथों ले चुके हैं। उनका कहना है कि, “एक मामूली कमेंटेटर को ये अवार्ड नहीं मिलना चाहिए! मुझमे क्या खराबी है? मैंने रामगोपाल वर्मा की ‘सरकार’ सीरिज में काम किया है, क्या ये कोई छोटी-मोटी बात है?”

बिग-बी की इस धमकी के बाद मोदी सरकार धर्म-संकट से घिर गई है। जनता की मांग है कि हर्षा को ये अवार्ड मिलना चाहिए, लेकिन अगर अमिताभ ने सरकारी विज्ञापन करने से इनकार कर दिया तो?”



ऐसी अन्य ख़बरें