Monday, 27th February, 2017
चलते चलते

दुनिया की आधी पॉलीथीन भारतीय महिलाओं ने बेड के गद्दों के नीचे छुपा रखी है: रिसर्च

17, Aug 2016 By बगुला भगत

मुंबई. अभी तक सारी दुनिया यही मानती आयी थी कि सबसे ज़्यादा पॉलीथीन कूड़े के ढेर और परचून की दुकानों में पड़ी है लेकिन एक हालिया रिसर्च में काफ़ी चौंकाने वाले आंकड़े सामने आये हैं। इस रिसर्च में पता चला है कि दुनिया की सबसे ज़्यादा पॉलीथीन भारतीय महिलाओं ने बेड के गद्दों के नीचे रखी हुई है।

Polythene2
ऊई मैय्या! कितनी प्यारी पॉलीथीन

टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ़ सोशल साइंसेज (TISS) ने देश के 25 शहरों में यह रिसर्च की। TISS में सेंटर फ़ॉर हेल्थ एंड मेंटल हेल्थ की डीन प्रो. सुरिंदर जसवाल ने बताया कि “भारतीय महिलाएं सिर्फ़ परचून के सामान वाली पॉलीथीन को ही डस्टबिन में फेंकती हैं। बाक़ी सबको बेड के गद्दे के नीचे जमा करती रहती हैं।”

“शादी-ब्याह में जिन पन्नियों में कपड़े आते हैं, उन्हें तो वे बिल्कुल नहीं फेंकतीं। अगर उनके पति कहते भी हैं कि ‘इनका क्यूं ढेर लगा रही हो?’ तो हमेशा उनका यही जवाब होता है कि ‘कुछ रखने के काम आयेंगी’। हालांकि वे कभी कुछ रखने के काम नहीं आतीं और गद्दे के नीचे उनका ढेर लगता जाता है। किसी किसी का गद्दा तो 2 इंच ऊंचा हो जाता है।” -प्रो. जमवाल ने आगे बताया।

दिल्ली के पीतमपुरा की रहने वाली आयुषी शर्मा ने बताया कि “हमारी मम्मी पन्नियों को ऐसे संभालकर रखती है, जैसे सोने की बनी हों।” इसके बाद आयुषी ने अलमारी खोलकर दिखायी, जिसमें कपड़ों से भरी पन्नियां अटी पड़ी थीं। तभी आयुषी की मम्मी आरती ने अलमारी बंद कर दी और शर्माते हुए कहा- “कई पन्नियां सच में इतनी प्यारी होती हैं कि उन्हें फेंकने का मन ही नहीं करता! सच्ची!” यह कहकर उन्होंने हमारे संवाददाता की वो पॉलीथीन भी झटक ली, जिसमें वो अपना माइक और कैमरा रखकर ले गया था।



ऐसी अन्य ख़बरें