Friday, 24th February, 2017
चलते चलते

हैकर्स की फूटी किस्मत, बड़ी मेहनत से हैक किया हुआ बैंक अकाउंट जन धन खाते का निकला

19, Oct 2016 By Ritesh Sinha

हैदराबाद. टेक सिटी हैदराबाद बेस्ड दो हैकर्स के आँसू रुकने का नाम नहीं ले रहे हैं, जब से उन्हें पता चला है की जिस बैंक अकाउंट को उन्होंने बड़ी मेहनत से हैक किया है, वो जन धन खाता का बैंक अकाउंट है जिसमे सिर्फ 840 रु. बैलेंस है। हैकर्स ने बताया की इस बैंक अकाउंट को हैक करने में ही उनके 12000 रु. खर्च हो गए और बदले में उन्हें मिला तो जन धन खाता का 840 रु.। इस घटना से दोनों हैकर्स को काफी गहरा सदमा लगा है और दोनों कुछ भी बात करने की हालत में नहीं थे। बड़ी मुश्किल से वो फेकिंग न्यूज़ से बात करने को राज़ी हुए।

दुखी होते हैकर्स
दुखी होते हैकर्स

सबसे पहले हमने उनका नाम पूछा एक ने अपना नाम ब्लैक कोबरा और दूसरे ने अपना नाम हरिकेन बताया। जब हमने उनसे पूछा कि आप लोग अपना असली नाम क्यों नहीं बता रहे हो? तो दोनों फिर से जोर-जोर से रोने लगे। ब्लैक कोबरा ने रोते रोते कहा- “तुझे इतना भी नहीं पता कि हमारी लाइन में किसी का भी असली नाम नहीं होता है, सब किराये का नाम ही यूज़ करते हैं।” थोड़ी देर बाद अपने आप को सम्भालने के बाद ब्लैक कोबरा ने घटना को याद करते हुए बताया कि- “हम पिछले एक महीने से एक शख्स की रेकी कर रहे थे। वो हमेशा ATM से निकलते वक़्त जरूरत से ज्यादा मुस्कुराता था। हमने सोचा कि इसके पास बहुत माल है तभी ये इतना मुस्कुरा रहा है और एक महीने की कड़ी मेहनत से हमने उसका बैंक अकाउंट हैक कर लिया।”

हैक करने के बाद हमारी ख़ुशी का ठिकाना नहीं था। लेकिन जब हमने इस A/C का बैलेंस चेक किया तो हमारे पैरों तले से जमीन खिसक गई। अकाउंट बैलेंस सिर्फ 840 रु. दिखा रहा था।” तभी ब्लैक कोबरा को हरीकेन ने टोकते हुए कहा-“क्यों झूठ बोलते हो भाई! 840 रूपए नहीं, 843 रूपए थे अकाउंट में।” और दोनों एक साथ माथा पकड़के रोने लगे। पांच मिनट बाद अपना आंसू पोंछते हुए हरीकेन बोले- “इस जन धन अकाउंट को हैक करने के चक्कर में हमने खुद 12000 रूपए खर्च कर दिए। हमें क्या पता था कि जन धन खाता में भी ATM मिलता है और उसमे इतने कम पैसे होते हैं, वरना हम भी थोड़ी सावधानी से काम करते।” ऐसा कहते हुए दोनों हैकर उठे और धीमी गति से चलते हुए वहां से चले गए।



ऐसी अन्य ख़बरें