Tuesday, 24th October, 2017

चलते चलते

16 जीबी की पेन ड्राइव के लिये दो साल से 'अच्छी डील' का वेट कर रहा है युवक

09, Oct 2017 By बगुला भगत

अहमदाबाद. आजकल इतनी ऑनलाइन सेल चल रही हैं कि अच्छे-ख़ासे बंदे का दिमाग़ ख़राब हो जाता है। उसे समझ में नहीं आता कि कहाँ पे अच्छी डील मिलेगी। उसे लगता है कि शायद अगली वाली सेल में इससे अच्छी डील मिल जाये! मणिनगर का रहने वाला मितेश मकवाना भी इसी ‘अच्छी डील’ के चक्कर में दो साल से एक पेन ड्राइव नहीं ख़रीद पाया।

Sale- Pen Drive
पेन ड्राइव की सेल देखता मितेशभाई

मितेश पिछले दो सालों से 16 जीबी की एक पेन ड्राइव ख़रीदने की प्लानिंग बना रहा है। जैसे ही वो कोई डील फ़ाइनल करने वाला होता है तभी उसकी नज़र किसी नयी सेल की एड पर पड़ जाती है और उसे लगने लगता है कि शायद उस सेल में सस्ती मिल जायेगी, इसलिये वो डील को पोस्टपॉन कर देता है।

मितेश की इस आदत से उसके घरवाले भी पक गये हैं। उसके भाई जितेश ने बताया कि “इसे ख़रीदना-वरीदना कुछ नहीं होता, बस ऐसे ही देखना होता है। दो साल से इसका यही ड्रामा चल रहा है। डिसाइड ही नहीं कर पाता! कभी-कभी तो सिर्फ़ 4-5 रुपये के डिफ़रेंस की वजह से ऑर्डर कैंसल कर देता है।”

“रोज़ आठ-नौ बजे लैपटॉप लेकर बैठता है और रात के दो बजे तक उसी पे लगा रहता है। देखने बैठता है पेन ड्राइव और देखने लगता है स्पीकर सिस्टम! और फिर मोबाइल, कार, ट्रिमर, प्रेशर कुकर और पता नहीं क्या-क्या देखने लगता है!” -जितेश ने सर पीटते हुए कहा।

“अभी पिछले हफ़्ते की ही बात ले लो! लैपटॉप पे पचास टैब खोल रक्खी थीं भाईसाब ने और उनमें कंपेयर कर रहा था। बिग बिलियन सेल में डील नक्की करने ही वाला था कि तभी कहन लगा कि ‘भाई, ग्रेट इंडियन सेल आ रही है 10 तारीख़ से, वहाँ पे चार रुपये कम में मिल जायेगी…ये देखो! तो दो दिन बाद में ले लेंगे। कौन सी आफ़त आ रही है!’ मैंने तो उसी दिन से बोलना छोड़ दिया इससे!” -जितेश बोला और अपने मोबाइल पे मोबाइल की कोई अच्छी सी डील ढूँढने लगा।



ऐसी अन्य ख़बरें