Thursday, 14th December, 2017

चलते चलते

बिना न्यौते के पकड़ा गया युवक,बोला 'मेस में खाना बेकार बनता है',इंजीनियर दूल्हे की आँख हुई नम

27, Nov 2017 By banneditqueen

भोपाल. शादियों का मौसम चल रहा है ऐसे में कॉलेज के कई बैचलर्स इसी ताक में रहते हैं कि आसपास कोई शादी चल रही हो तो वहां जाकर दावत खा लें। थ्री इडियट्स मूवी में जो काम रैंचो और उसके दोस्त फरहान और राजू ने किया था वो तो हमारे इंजीनियरिंग के लड़के सालों से करते आ रहे हैं। चेतन भगत के अलावा इंजीनियरों को भी उस सीन की रॉयल्टी मांगनी चाहिए थी।

3 idiots1इस परंपरा को कायम रखते हुए NIT भोपाल के कुछ छात्रों ने एक शादी में घुसकर मुफ्त दावत उड़ाने का प्लान बनाया। बीटेक द्वितीय वर्ष के छात्र कुणाल अपने तीन दोस्त प्रणय, अनुज और सूरज के साथ अरेरा कॉलोनी में चल रही एक शादी में मेहमान बनकर घुस गए। सबने हाथ में एक लिफाफा और सर पे पगड़ी बाँध रखी थी। प्रणय, अनुज और सूरज तो अंदर घुस गए पर लड़के के फूफाजी ने कुणाल को मुख्य द्वार पर ही रोक लिया। कुणाल ने फूफा जी को कहा कि वह दूल्हे का दोस्त है, इससे पहले कि फूफाजी कुछ कह पाते कुणाल चुपचाप दूसरे मेहमानों की आड़ लेकर अंदर घुस गया।

कुणाल एक कोने में चुपचाप चिकन बिरयानी खा लुत्फ़ उठा रहा था तभी फूफाजी की नज़र उस पर फिर से पड़ गई। फूफाजी ने दूल्हे के पास जाकर उससे पूछा ”वो काले कोट में पतला लड़का तुम्हारा दोस्त है ?” इस पर दूल्हे ने ध्यान से देखकर बताया कि ”नहीं, ये मेरा दोस्त नहीं है मैंने तो आजतक इसको कभी देखा भी नहीं।” फूफाजी को गरम होता हुए देख दूल्हे ने खुद बात करना बेहतर समझा।

दूल्हा कुणाल के पास जाकर उससे सवाल जवाब करने लगा और दो मिनट में ही उसका भांडा फूट गया। कुणाल ने रोते हुए बताया ”एक हफ्ते से मेस में केवल खिचड़ी बन रही है। मैं और मेरे दोस्त खिचड़ी खा खा कर तंग आ चुके थे। इसीलिए आज कहीं दावत उड़ाने का प्लान बनाया।” इतना सुनते ही दूल्हे की आँख में आँसू आ गए और उसने कुणाल को गले लगाकर कहा ”बस कर मेरे दोस्त मैं भी इंजीनियर हूँ।” इसके बाद दूल्हे ने केटरर को बुलाकर कहा कि ”इन साहब का ख़ास ध्यान रखो, एक दम गरमा गरम खाना प्लेट में लगा कर दो।” यह नज़ारा फूफाजी दूर से देख रहे थे, इससे पहले कि वो कुणाल की धुलाई करते दूल्हे ने उन्हें रोककर झूठ बोल दिया कि वो लड़का उसका पुराना दोस्त है।



ऐसी अन्य ख़बरें