Tuesday, 27th June, 2017
चलते चलते

उधारी माँगने वाले दोस्त ने कल रात 500-1000 के नोटों में अचानक लौटाई चार साल पुरानी उधारी

09, Nov 2016 By banneditqueen

दिल्ली. हम सभी का एक ऐसा दोस्त ज़रुर होता है जो आए दिन उधारी माँगता है। कल शाम जब प्रधानमंत्री ने पाँच सौ और हज़ार के नोट बंद करने का ऐलान टी.वी. पर किया तब सभी लोग जिनके पास 500-1000 के नोट थे वो परेशान होने लगे। ए.टी.एम के बाहर जहाँ अच्छी खासी भीड़ थी वहीं काला धन दबा कर बैठे लोग ज्यादा परेशान थे।

दोस्त को पैसे लौटाते हुए सिद्धार्थ
दोस्त को पैसे लौटाते हुए सिद्धार्थ

चाँदनी चौक में रहने वाले सिद्धार्थ ने कई दोस्तों से उधार ले ऱखा था। उसे पड़ोस में रहने वाले मित्तल अंकल के काले धन की जानकारी थी। शाम को न्यूज़ देखने के बाद उसने मित्तल अंकल के सामने प्रस्ताव रखा कि वह उनके 500 रुपये के नोट के बदले में 100 रुपये के नोट दे देगा। मित्तल अंकल ने सोचा पूरे 500 रुपये बरबाद होने से बेहतर कम से कम उसके बदले सौ रुपये ही मिल जाएँ। मित्तल अंकल से पैसे लेकर सिद्धार्थ ने सभी दोस्तों को फोन कर के बुलाया और कहा कि “अपने पैसे वापस ले लो अभी के अभी आकर।”

सिद्धार्थ के सभी दोस्त मोदी जी के फैसले से अंजान बार में दारू पी रहे थे। सिद्धार्थ के एक दोस्त ने कहा “कंजूस पैसे वापस दे रहा है वही बहुत है, जितना देगा ले लेंगे चुपचाप।” सिद्धार्थ के घर पहुँचते ही सिद्धार्थ ने सभी दोस्तों को दुगुनी रकम 500 रुपये के नोटों में वापस की और कहा “यार तुम सब मेरी ज़रूरत के वक्त काम आए इसीलिये मैनें डबल पैसे दिये हैं।” सिद्धार्थ के दोस्त उसके घर से निकलते वक्त काफी खुश थे। जैसे ही घर आकर उनहोनें  समाचार देखा उनके होश उड़ गये। अब सभी दोस्त सिद्धार्थ को पीटने की फिराक में हैं।



ऐसी अन्य ख़बरें