Friday, 20th October, 2017

चलते चलते

देश की सेना को छोड़कर सब कन्फ्यूजन में जी रहे हैं : रिसर्च

24, May 2017 By Ritesh Sinha

नयी दिल्ली. ताज़ा हुए रिसर्च से खुलासा हुआ है कि आजकल नेता, अभिनेता, पत्रकार, एक्सपर्ट, कलाकार, क्रिकेटर सब कन्फ्यूजन में जी रहे है, किसी को कुछ आईडिया नहीं है कि क्या करना चाहिए और क्या नहीं। इसी कन्फ्यूजन के चक्कर में न्यूज़ चैनल और ट्विटर में झगड़े भी बहुत हो रहे हैं। हालाँकि, राहत की खबर ये है कि देश की सेना ही एक ऐसी है, जिसे ये मालूम है कि उसे क्या करना है, और कब करना है। बाकि सब हां या नहीं के बीच झूल रहे हैं। कुछ नेता भी इस बात को लेकर कंफ्यूज हैं कि इस बार सबूत माँगा जाए या नहीं। खैर, पिछली बार से सबक लेते हुए सबूत मांगने वालों की संख्या में भारी गिरावट दर्ज की गई है।

कंफ्यूज़न से दूर इंडियन आर्मी
कंफ्यूज़न से दूर इंडियन आर्मी

रिसर्च करने वाली संस्था के प्रमुख, हंसमुख भाई ने बताया कि “देखने में आया है कि कंफ्यूजन ने चरों ओर से इंसान को घेर लिया है, इंजीनियरिंग करना है कि नहीं, यह सोचने में ही लड़कों को कई दिन लग जाते हैं। IPL ने भी लोगों को बहुत कंफ्यूज किया है, किसने सोचा था कि रोहित शर्मा की टीम जीत जाएगी। वहीँ, GST पर भी सभी दल कंफ्यूजन में हैं, एक दिन समर्थन करते हैं, दूसरे दिन विरोध करने लगते हैं। और बाहुबली की तो बात ही छोड़ दो, जितना जवाब जनता राजमौली से मांग रही थी, उससे ज्यादा सवाल छोड़कर चला गया ये राजमौली। इन्हीं सब घटनाओं को देखते हुए हमने इस रिसर्च को अंजाम दिया है, और हम इस नतीजे पर पहुंचे हैं कि भारत में सेना के अलावा बाकि सब लोग कंफ्यूजन में जी रहे हैं।”-हंसमुख जी ने हँसते हुए कहा।

“क्या एंकर और एक्सपर्ट भी कंफ्यूजन में जी रहे हैं?” ऐसा पूछे जाने पर उन्होंने बताया कि “बिल्कुल! अब रक्षा विशेषज्ञ, बलदेव कालरा को ही ले लीजिए। कल उन्होंने अर्नब के शो में ये कह दिया था कि “इतना काफी है!” फिर क्या था, अर्नब उस पर टूट पड़ा। उसने कहा कि “ये क्या बात कर रहे हैं आप? इतने से कुछ नहीं होगा, सेना को ऐसे ऑपरेशन हर हफ्ते करते रहना चाहिए। आपको शर्म आनी चाहिए, टीवी पर ऐसी बात करते हुए।” कालरा जी चुपचाप सुन रहे थे, उन्हें समझ ही नहीं आया कि उन्होंने ऐसा क्या कह दिया है।

जी भरकर कोसने के बाद अर्नब ने कालरा जी को बख्शी जी के हवाले कर दिया। मौका मिलते ही बख्शी जी भी तुरंत ड्राइविंग सीट पर आ गए और उन्होंने भी कालरा जी को ड्राई क्लीन पर ले लिया -“चार पोस्ट तबाह क्या हुए, आप तो इतने से ही खुश हो गए। इतने से कुछ नहीं होगा साब!” दो लोगों से डांट खाने के बाद कालरा जी को ये मानना पड़ा कि वे कंफ्यूज हो गए थे।”- इस घटना से हमें पता चलता है कि टीवी के लोग भी भारी कंफ्यूजन में हैं।”-हंसमुख जी ने पानी बात पूरी की।



ऐसी अन्य ख़बरें