Friday, 24th November, 2017

चलते चलते

भ्रष्ट नेता ने शिक्षक दिवस पर दिया भाषण- ''आज जो कुछ भी हूँ अपने शिक्षक की वजह से हूँ''

05, Sep 2017 By banneditqueen

कानपुर. आज शिक्षक दिवस के दिन सभी अपने पसंदीदा शिक्षकों को याद करते हैं। बच्चे अपने शिक्षकों के लिए फूल और ग्रीटिंग कार्ड लाते हैं। स्कूल में शिक्षकों के लिए समारोह होता है और किसी चीफ गेस्ट को बुला कर उससे ज़बरदस्ती भाषण दिलवाया जाता है। पर एक नेता द्वारा अपने शिक्षक को याद करना उन्हें बहुत भारी पड़ गया।

chaturकानपुर के मॉडर्न फॅमिली है स्कूल ने एक कद्दावर नेता जो कि पिछले महीने से ही भ्रष्टाचार के आरोपों के कारण ख़बरों में छाए थे, उन्हें चीफ गेस्ट के तौर पर बुलाया गया था। किस्मत से नेता जी को पढ़ने वाले एक शिक्षक आज भी इसी स्कूल में पढ़ा रहे हैं। नेताजी ने मंच पर चढ़कर कहा ” मैं अपने सभी शिक्षकों का बहुत आभारी हूँ। पिछले महीने मुझ पर करोड़ों की धांधली करने का आरोप लगा, मुझे आज भी याद है बचपन में सामने बैठे मेरे गुरु गिरधारी लाल जी ने कहा था कि कितनी भी मुश्किल परिस्थिति आए कदम डगमगाने मत देना, अपने लक्ष्य पर अडिग रहना। इसीलिए जब लोगों ने मेरा इस्तीफ़ा माँगा तो मैं अडिग रहा। मैंने  बचपन में सोचा था जब तक सौ करोड़ रूपये न कमा लूँ तब तक चैन से नहीं बैठूंगा। भ्रस्टाचार से अब तक केवल चालीस करोड़ ही जमा हुए हैं। जब तक सौ नहीं हो जाते अडिग रहूँगा।”

जब नेताजी ने यह कहा कि ”मैं आज जैसा भी हूँ गिरधारी लाल जी की वजह से हूँ”, तब गिरधारी लाल जी गुस्से में आग बबूला हो गए और अपनी कुर्सी से उठकर बोले ”मुझे यहाँ मेरी तारीफ करने के लिए बिठाया था या बेइज़्ज़ती करने के लिए।” ऐसा बोलकर गिरधारी लाल जी स्कूल से बाहर चले गए।



ऐसी अन्य ख़बरें