Saturday, 23rd September, 2017

चलते चलते

मैनेजर ने लिंक्ड-इन पे लिखा 'लुकिंग फॉर रॉक-स्टार्स', गिटार लेकर इंटरव्यू देने पहुंचे कई युवक

10, Sep 2017 By Pagla Ghoda

बेंगलुरु. ‘ग्रीन मैंगो मोर टेक्नोलॉजीज’ नामक स्टार्टअप के आफिस में उस समय अफरा-तफरी मच गयी जब लम्बे बालों वाले कई युवक वहां जॉब की तलाश के लिए आ पहुंचे और रिसेप्शनिस्ट को घेरकर तुरंत नौकरी की मांग करने लगे। हुआ ये था कि पिछली शाम को कंपनी के HR VP प्रभुदयाल पगडण्डी जी ने लिंक्डइन पे लिख दिया था- ‘लुकिंग फॉर रॉक-स्टार्स’, जबकि वो लिखना चाहते थे- ‘लुकिंग फॉर रॉक-स्टार प्रोडक्ट मैनेजर’! उनकी इसी जॉब पोस्टिंग के चलते खुद को रॉकस्टार समझने वाले कई युवक उनके ऑफिस में आ धमके और काफी जदोजहद के बाद ही कन्फूज़न क्लियर हुआ।

guy with guitar2
गिटार लेकर इंटरव्यू देने पहुँचा शैंकी नामक युवक

उस दिन के वाकये को याद करते हुए दफ्तर के चायवाले छोटू ने बताया, “ओ भाईसाब जी, उस दिन तो फड्डा ही हो गया था। ढेर सारे देसी फरहान अख्तर टाइप के लोग आ के पूरे ऑफिस में भर गए, सब तरफ से गिटार-वायलिन ट्यून होने की अजीब-अजीब सी आवाज़ें आने लगीं। कोई ‘रॉक ऑन-2’ के गाने गा रहा था, तो कोई ‘पानी दा रंग’ बजा रहा था। मैं तो लोगों को चाय पिलाते-पिलाते थक गया। आधों ने तो जाते टाइम मेरे पैसे भी नहीं दिए, कहा बच्चे नौकरी लगने दे, फिर दे देंगे, तब तक हिसाब में लिख लियो। नौकरी तो किसी को भी नहीं मिली, अब मेरे पैसे कौन देगा? HR वाले प्रभुदयाल जी? अरे उनका तो खुद का चाय-नाश्ते का चार हज़ार का बिल पेंडिंग है। बोलते हैं स्टार्टअप की अगली फंडिंग हो जाए तो पाई-पाई चुका दूंगा।”

नौकरी के इश्तेहार लिखने की विशेषज्ञा श्रीमती कोकिला कुलकर्णी ने इस मामले में पूरी तरह इश्तेहार लिखने वाले को ज़िम्मेदार बताया है। अपना चश्मा ठीक करते हुए उन्होंने कहा, “लिंक्ड-इन पर आजकल नौकरियों के इश्तेहार कुछ अलग ही तरह से छपने लगे हैं। अब सीधा-सीधा ‘हमें सॉफ्टवेयर इंजीनियर की तलाश है’ लिखने के बजाये लोग लिखने लगे हैं- ‘लुकिंग फॉर रॉक-स्टार सॉफ्टवेयर इंजीनियर’, जो कि काफी मिस-लीडिंग है। अब पिछले हफ्ते ही की बात लीजिये, किसी ने लिंक्ड-इन पे लिख दिया- ‘लुकिंग फॉर ग्रोथ निंजा’, और उसके अगले दिन ही कई लोग निंजा की काली वाली ड्रेस पहने हाथ में नान-चाक़ू, कुकरी इत्यादि लिए उनके ऑफिस जा पहुंचे। पुलिस तक बुलानी पड़ गयी थी, कोई भी हादसा हो सकता था। इसलिए ‘कीप इट सिंपल ऐंड स्टुपिड’, साफ़ साफ़ लिखिए कि आप क्या चाहते हैं, अपने दिमाग की कलाकारी मत झाड़िये।”



ऐसी अन्य ख़बरें