Thursday, 23rd February, 2017
चलते चलते

कॉफी शॉप वाले ने वाईफाई किया बंद ताकि लोग आपस में बात करें, ग्राहकों ने धोया

24, Jan 2017 By Pagla Ghoda

नई दिल्ली: दिल्ली के मशहूर कैफ़े “वेलवेट ब्रू कैफ़े” के बूढ़े अटेंडेंट चंद्रु चपोरिया की दुकान के ग्राहकों ने उस वक़्त जमकर धुलाई कर दी जब उसने कैफे का वाईफाई ये सोच कर बंद कर दिया के वाईफाई न मिलने पर लोग आपस में बात करेंगे। छप्पन वर्षीय चंद्रु को पास के हस्पताल में ले जाया गया जहाँ उसकी हालात अब खतरे से बाहर है।

काॅफी छोड़ कर गए ग्राहक
काॅफी छोड़ कर गए ग्राहक

होश में आने पर चंद्रु जी ने फेकिंग न्यूज़ को बताया, “देखिये भाई साहब कैफ़े में आते ही सब कोई लोग अपने फ़ोन में लग जाते हैं, अब वो पहले जैसी गपशप, शेरो शायरीऔर रोमांटिक बातें कहाँ रहीं? हम तो पिछले पचास सालों से देश भर की कॉफ़ी शॉप्स में काम कर रहे हैं, लोगों को ऐसा फ़ोन में घुसे देखा कभी नहीं देखा। छह साल की उम्र का था तब से ताजमहल के ठीक पीछे पप्पू के ढाबे पे चाय के प्याले धोया करता था, क्या किस्से कहानियां चला करती थीं चाय की दुकान पे। खैर तब का ज़माना और था, लेकिन पिछले पचास सालों में अपना देश बहुत बदल गया है। और आज तो देखिये, जवान बच्चों ने वाईफाई बंद करने पर हम पर हाथ भी उठा दिया? बस अब और नहीं, अब मन उठ गया इस पेशे से।”

मौकाए वारदात पर मौजूद, कॉलेज की छात्रा सपना नें इस मामले में कुछ अलग ही विचार व्यक्त किये। अपना फ़ोन चेक करते हुए उन्होंने कहा, “यार उन अंकल की पिटाई हो गयी वो गलत बात है, पर उन्होंने भी कोई ठीक काम नहीं किया। हमें इतने सारे ऐप अप्डेट्स करने होते हैं, व्हाट्सएप्प पे सारे प्लान्स बनते हैं, ऑनलाइन ड्रेस्सेस सेलेक्ट करनी होती है। इसलिए हम कैफे आते हैं। अब उन अंकल ने तो वाईफाई ही बंद कर दिया और बोले चलो सब आपस में बात करो। अरे आप होते कौन हो हमें पेट्रोनाइज़ करने वाले? हमें पता है अपना भला बुरा। कुछ लड़कों ने उन्हें कहा भी के चाचा जी आप वाईफाई दोबारा ऑन कर दो। पर वो शायद थोड़ा सठिया गए हैं, उन्होंने मना कर दिया। फिर क्या था, हम तो जवान खून हैं, हाथ उठ गया एक दो लोगों का। I really hope he gets well soon, शरीर से भी और दिमाग से भी।”

कैफ़े के मालिक सोनेश सोराबजी जो की चंद्रु जी को कई वर्षों से जानते हैं, उन्होंने इस मामले में कोई भी टिप्पणी करने से इनकार कर दिया। उन्होंने ये ज़रूर बताया के अब से वाईफाई का डायरेक्ट कण्ट्रोल उनके ही हाथों में रहेगा और कोई भी एम्प्लाई उसे छेड़ नहीं पायेगा, ताकि आगे से ऐसा कोई भी हादसा पेश न आये।



ऐसी अन्य ख़बरें