Wednesday, 26th July, 2017
चलते चलते

GST में सिगरेट पर लगेगा 65% टैक्स: सिगरेट छोंड़ने की कसम खाने के लिए मंदिरों में पहुंच रहे हैं लोग

04, Nov 2016 By Ritesh Sinha

नयी दिल्ली. सिगरेट पीने वालों को जैसे ही पता चला कि GST के आने पर सिगरेट में 65% टैक्स लगेगा तब से शहर के सभी मंदिरों में भीड़ बढ़ गई है। दरअसल ये भीड़ उन लोगों की है जो सिगरेट की बढ़ती कीमत से तंग आकर इसे छोड़ना चाहते हैं। इससे पहले कि सिगरेट फूंकने के चक्कर में घर-बार फूँक जाए इसे छोड़ देने में ही उनकी भलाई है।

मंदिर के बाहर जमा भीड़
मंदिर के बाहर जमा भीड़

दिल्ली के एक प्रसिद्ध मंदिर के बाहर खड़े एक युवक विवेक आहूजा ने बताया कि “मैं ऑफिस में कम से कम 10-15 सिगरेट तो फूंक ही देता था। लेकिन जैसे ही मुझे पता चला कि GST आने पर सिगरेट का रेट और बढ़ने वाला है तब से मुझे टेंशन हो गया था कि अब मैं इतने पैसे कहाँ से लाऊंगा। दुनिया के बड़े-बड़े डॉक्टर मेरी सिगरेट नहीं छुड़ा पाए लेकिन इस GST ने तो मेरी नाक में दम कर दिया। अब मैं सिगरेट छोंड़ने वाला हूँ, आज भगवान के सामने कसम खाऊंगा की आज के बाद मैं सिगरेट को हाथ भी नहीं लगाऊंगा।”-कहते हुए विवेक मंदिर के अन्दर प्रवेश कर गया।

वहीँ कुछ लोग ऐसे भी हैं जो सिगरेट छोंड़ने की हिम्मत नहीं कर पा रहे हैं और वित्त मंत्री अरुण जेटली को जमकर कोस रहे हैं। ऐसे ही एक शख्स सोहन कुमार ने बताया कि “भई मैं सिगरेट तो नहीं छोंड़ सकता लेकिन सिगरेट का खर्च कुछ कम जरूर करना पड़ेगा। आज से अगर कोई ऑफिस में मुझसे सिगरेट मांगेगा तो मैं सरासर झूठ बोल दूंगा कि मेरे पास सिगरेट नहीं है। इन्फैक्ट अब तो मैं खुद दूसरों से मांगकर पीऊंगा। अब तो मैं ज्यादा नखरा भी नहीं करूँगा, अगर सिगरेट पीने को ना मिले तो मैं बीड़ी से भी काम चला लूँगा।”- कहते हुए सोहन सिगरेट सुलगाने लगा। उधर, दूसरों से सिगरेट मांगकर पीने वालों के खिलाफ कुछ लोग सुप्रीम कोर्ट जाने की तैयारी कर रहे हैं ताकि ऐसे लोगों को सबक सिखाया जा सके। याचिकाकर्ताओं की मांग है कि ऐसे लोगों को कम से कम दस साल का कठोर कारावास होना चाहिए।



ऐसी अन्य ख़बरें