Monday, 18th December, 2017

चलते चलते

केवल बीफ और टुंडे कबाब की चर्चा से मुर्गियाँ दुखी, उपेक्षा से चिंतित होकर बुलाई बैठक

24, Mar 2017 By banneditqueen

लखनऊ. अवैध बूचड़खाने बंद होने के चलते लखनऊ के मश्हूर ”टुंडे कबाबी” जो कि अब तक गिलोटी में बीफ को मटन बता कर बेच रहे थे, उन्हें भारी समस्या का सामना करना पड़ा। मोदी सरकार के आने के बाद से ही बीफ पर राजनीति चल ही रही थी और योगी के अवैध बूचड़खाने को बंद करने के बाद से इस आग में औऱ घी पड़ गया। पहले बीफ और कल मटन भी इस राजनीति की चपेट में आ गया। नॉनवेज समाज में सबसे ज्यादा उपेक्षा होने के चलते मुर्गियों ने भारी आक्रोश जताया है।

चिकन समाज की बैठक की एक झलक
चिकन समाज की बैठक की एक झलक

उनका कहना है कि ”चाहे कोई पार्टी हो या शादी, हर जगह चिकन बनता ही है पर हम पर कोई ध्यान नहीं देता। हमारा क्या कसूर है जो हम कभी टी.वी पर नहीं आते? बस लोगों की नज़र तभी पड़ती है जब फ्लू फैला हो। कोई हमें बचाने की बात क्यों नहीं करता?” इस बात से चिंतित चिकन समाज ने कल राष्ट्रीय स्तर पर बैठक बुलाई। बैठक में यह फैसला किया गया कि फ्लू की अफवाह फैलाई जाएगी ताकि लोग चिकन खाने से डरें।



ऐसी अन्य ख़बरें