Tuesday, 24th October, 2017

चलते चलते

चोर ने लौटाई मुख्यमंत्री केजरीवाल की कार, कहा हर एक किलोमीटर पर लेती है यू- टर्न

13, Oct 2017 By Guest Patrakar

दिल्ली. गुरुवार शाम को दिल्ली सचिवालय के सामने से दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की नीली वैगन आर चोरी हो गई। लेकिन कुछ ही देर बाद चोर ने उनकी गाड़ी वापस लौटा दी। आख़िर वजह क्या थी? आइए पढ़ते है।

आम आदमी पार्टी के नेता अरविंद केजरीवाल की पसंदीदा वैगन – आर कल उनके दफ़्तर के सामने से ही चोरी हुई। लेकिन रात ग्यारह बजे ही उनकी गाड़ी कोई उनके दफ़्तर के सामने वापस छोड़ गया। हालाँकि दिल्ली जैसे शहर में चोरी होने के बावजूद गाड़ी में रखे बीस हज़ार रुपए ज्यूँ के त्यों ही थे।

गाड़ी को देख खुश होते केजरीवाल
गाड़ी को देख खुश होते केजरीवाल

हमने अपने ख़ुफ़िया ख़बरियों की मदद से चोर को ढूँढ निकाला और उससे गाड़ी लौटाने की वजह पूछी। फेकिंग न्यूज़ से बात करते हुए चोर अभिषेक मिश्रा उर्फ़ लल्लू ने बताया “मैं पिछले कई सालों से गाड़ियों की चोरी कर रहा हूँ, लेकिन केजरीवाल की जैसी गाड़ी मैंने आज तक कभी नहीं देखी। वो हर एक किलॉमीटर के बाद यू-टर्न मार रही थी। पहले मुझे लगा गाड़ी में ख़राबी है, लेकिन बाद में न्यूज़ में देखने पर समझ आया कि यह तो केजरीवाल जी की कार है इसीलिए अपने मालिक जैसी हरकतें कर रही है।”

आम आदमी पार्टी के नेता मनीष सिसोदिया ने पार्टी की ओर से हमसे बात-चीत की। उन्होंने कहा “यह केजरीवाल जी की ख़ूबी की कारण ही गाड़ी वापिस आयी है। वो भी हर एक किलोमीटर बाद यू-टर्न मारते आए है। जिसके कारण गाड़ी को यू-टर्न मारने की आदत पड़ गई थी। यह आम आदमी की जीत है।”

हालाँकि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरिवाल ने फेकिंग न्यूज़ से बात करने से यह कह कर इनकार कर दिया कि वो फेकिंग न्यूज़ वालों से बात नहीं करते बल्कि उन्हें छापने में यक़ीन करते है। लेकिन उन्होंने ट्वीट के माध्यम से अपना ग़ुस्सा ज़रूर ज़ाहिर किया। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा “मेरी गाड़ी ज़रूर भाजपा के किसी आदमी ने चुराई है, लेकिन दिल्ली पुलिस मेरी बात पर यक़ीन नहीं कर रही है।” इसपर दिल्ली पुलिस के ओफ़्फ़िशियल हैंडल में जवाब देते हुए कहा “सबूत है क्या? सबूत दीजिए”। जिसके बाद ट्विटर पर अरविंद केजरिवाल जी का जमकर मज़ाक़ उड़ा।

बहरहाल केजरीवाल जी चाहते तो यह हादसा रोक सकते थे, अगर वो अपने वादे के अनुसार दिल्ली में 15 लाख CCTV लगवा देते तो। अभी के लिए दिल्ली पुलिस ने चोर के ख़िलाफ़ FIR लिख ली है और शायद कुछ दिनो में गिरफ़्तारी भी कर लेगी। लेकिन यह हादसा एक महत्वपूर्ण सवाल खड़ा कर देता है – जब दिल्ली में ‘दिल्ली का मालिक’ सुरक्षित नहीं तो हम और आप कैसे हो सकते हैं?



ऐसी अन्य ख़बरें