Saturday, 19th August, 2017

चलते चलते

पापा के पुराने sad songs से परेशान चिंटू ने तोड़ दिया पूरा म्यूजिक सिस्टम

11, Dec 2016 By Ritesh Sinha

भोपाल. साकेत नगर इलाके में रहने वाले जितेन्द्र राजवंशी एक मल्टीनेशनल कंपनी में काम करते हैं। वो पुराने गानों के बेहद शौक़ीन हैं, खासकर दर्द भरे नगमे सुनना उन्हें बहुत अच्छा लगता है। अपने इस ‘दर्दीले शौक’ को पूरा करने के लिए जितेन्द्र ने अपने ड्रॉइंग रूम में हाई क्वालिटी के साउंड बॉक्स, मॉनिटर और वूफर लगा रखे हैं। ऑफ़िस से घर पहुंचते ही वो पुराने गाने लगा देते हैं और छुट्टी के दिन भी अक्सर यही करते हैं।

loud music
पापा के पुराने गानों से परेशान विवान

जितेन्द्र का दस साल का बेटा विवान (जिसे घरवाले प्यार से चिंटू कहते हैं) अपने पापा के इन गानों से हमेशा परेशान रहता है क्योंकि उसे ख़ुद इन साउंड बॉक्स में तेज आवाज में अपनी पसंद के गाने सुनने का मौका कभी नहीं मिलता, क्योंकि ज़्यादातर टाइम तो पापा के गाने ही बजते रहते हैं। मजबूरी में उसे अपने मोबाइल में इयरफोन लगाकर ही मन बहलाना पड़ता है।

दो दिन पहले विवान ने कहा-‘पापा! आप अपने गानों की आवाज कम कर लो ना! मैं भी ‘हानिकारक बापू’ सुन रहा हूँ मोबाइल पे।”, जितेन्द्र ने उसकी बात पे कोई ध्यान नहीं दिया। विवान ने फिर कहा- “पापा वॉल्यूम कम कर लो ना!” इस पर जितेंद्र ने जवाब दिया- “बेटा! मुझे चैन से गाने सुनने दो ना! वैसे भी तुम तो ईयरफोन लगाकर सुन रहे हो। बाहर जाकर सुन लो, जाओ!” यह सुनते ही विवान आग बबूला हो गया और पापा से बदला लेने की ठान ली।

एक दिन जब उसके पापा ऑफ़िस गये हुए थे तो उसने पूरा म्यूजिक सिस्टम उखाड़कर घर में कहीं छुपाकर रख दिया। शाम को जब वो लौटे और गाना सुनने के लिये स्विच ऑन करने लगे तो देखा कि म्यूजिक सिस्टम तो वहां पे है ही नहीं! वो घबरा गये कि कहीं घर में चोरी तो नहीं हो गयी। लेकिन जब विवान की मम्मी ने सारा माजरा समझाया और तो जितेन्द्र को अपनी गलती का एहसास हो गया। उन्होंने विवान को ‘सॉरी’ कहा और वादा किया कि वो उसे भी उसके नये वाले गाने सुनने देंगे तब कहीं जाकर उसने वो म्यूजिक सिस्टम वापस लौटाया।



ऐसी अन्य ख़बरें