Saturday, 19th August, 2017

चलते चलते

आलोकनाथ बने सोसाइटी के चीफ वेलफेयर ऑफिसर, बैचलर्स में हड़कंप

12, Aug 2017 By Gunj Kr
गुड़गांव. हाल ही में गुड़गांव के एस्सेल सोसाइटी के पायलट कोर्ट में बैचलर्स के आये दिन हंगामे से परेशान हो कर रेसिडेंस वेलफेयर एसोसिएशन (RWA) ने प्रसिद्ध संस्कारी अालोकनाथ को पायलट कोर्ट का चीफ वेलफेयर ऑफिसर नियुक्त किया है।ऐसा करने के पीछे RWA प्रेसिडेंट श्री सिंह का कहना है की “बैचलर्स ने हमारे सोसाइटी में काफी उत्पात मचा रखा था। आये दिन वो अपने महिला या पुरुष मित्रों के साथ ‘लगावेलू जब लिपिस्टिक…’ जैसे गानों पर रात भर डांस करते थे। संस्कार की हद तो तब गिर गयी जब वे ‘बगल वाली जान मारेली…’ जैसे गाने भी बजाने लगे।तभी सारे RWA सदस्यों ने ये फैसला लिया की एस्सेल सोसाइटी में संस्कार का स्तर बढ़ाने के लिए आलोकनाथ जैसे संस्कारी पुरुष को सोसाइटी का चीफ वेलफेयर ऑफिसर नियुक्त किया जाए।”
अब संस्कारी होगी सोसाइटी
अब संस्कारी होगी सोसाइटी

अपनी नियुक्ति को ले कर आलोकनाथ काफी उत्साहित नज़र आये। जॉइनिंग के पहले दिन ही उन्होंने सोसाइटी में त्रि सूत्री संस्कारी नियम लागू कर दिए।

– हर शुक्रवार और शनिवार को रात्रि जगराते का आयोजन होगा जहाँ ‘डीजे वाले बाबू…’ की जगह ‘शेरावाली माता बेड़ा पार लगा दो…’ पर बैचलर्स अपने मित्रों के साथ नृत्य करेंगे।

– सोसाइटी गेट पर बैचलर्स के महिला या पुरुष मित्रों को रजिस्टर में एंट्री के साथ आलोकनाथ का आशीर्वाद भी लेना होगा।

– दोस्ती को रिश्तेदारी में बदलने के लिए सोसाइटी की सारी कुंवारी लड़कियों का कन्यादान आलोकनाथ स्वयं करेंगे।

वहीं दूसरी ओर आलोकनाथ की नियुक्ति को ले कर बैचलर्स (ख़ास कर कुंवारी लड़कियों) में काफी रोष है। राहुल (‘नाम तो सुना ही होगा’ फेम) ने कहा की “बैचलर्स को सोसाइटी से बाहर निकालने के लिए ये RWA की साजिश है। हम इसका करारा जवाब देंगे। हमने आलोकनाथ का वीडियो बनाया है जहाँ वे लड़कियों का कन्यादान कर रहे हैं जो की गैर क़ानूनी है। हम इस वीडियो को माता की चौकी के वजाय पुलिस चौकी ले कर जायेगें और बैचलर्स को इस संस्कारी पुरुष एवं RWA के अत्याचार से मुक्त करायेंगे।”

बैचलर्स ने सोशल मीडिया जैसे ट्विटर एवं फेसबुक पर भी इस नए नियम का कड़ा विरोध किया है। ट्विटर पर #RegressiveEssel #BachelorsAreNotCriminals जैसे टैग ट्रेंड कर रहे हैं जहाँ सोसाइटी के बैचलर्स अपना विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं।



ऐसी अन्य ख़बरें