Thursday, 14th December, 2017

चलते चलते

सुबह से ही क्यों रो रहा है राहुलजी का डॉगी 'पीडी'?, वजह जानकर हँस पड़ेंगे अाप

06, Dec 2017 By A. Jayjeet

नयी दिल्ली. राहुल गांधी का पर्सनल डॉगी पीडी (PIDI) आज सुबह से ही रोये जा रहा है। जैसे ही राहुल को इसकी खबर लगी, वो अपनी सारी मीटिंग्स छोड़कर तुरंत पीडी के पास पहुंचे और उसे पुचकारकर रोने की वजह पूछी। वजह जानकर राहुल भी हँस दिए। अपने सूत्रों से हमने भी वजह जान ली है, जिसे सुनकर शायद आप भी अपनी हँसी ना रोक पायें!

Pidi-Crying-Rahul
सुबह से ही टसुए बहा रहा है पीडी

दरअसल, यह तय होने के बाद कि कांग्रेस का अगला अध्यक्ष राहुल गांधी ही बनेंगे, राहुल जी का पर्सनल डॉगी होने के नाते पीडी भी कुछ ज्यादा ही महत्वाकांक्षी और ओवर कॉन्फिडेंट हो गया। वह राहुल जी का बंगला फाँदकर गली के अन्य कुत्तों के पास पहुंच गया। वहांँ उसने अपने गले का पट्‌टा ऊंचा किया और एटीट्यूड के साथ बोला, “राहुल बैया अपनी पाल्टी के अध्यक्ष बन रहे हैं। इसलिए आप लोग भी मुझे डॉगीज पार्टी का अध्यक्ष चुन लीजिए। मैं अहमद भाई को बुला लेता हूं। वो सारा प्रोसेस पूरा करवा लेंगे।”

यह सुनते ही गली के कुत्ते आपा खो बैठे। एक साथ भौंकते हुए अपनी कुत्तई वाली भाषा में बोले, “अबे स्साले, तू होगा राहुलजी के घर का कुत्ता…” पीडी बीच में दखल देते हुए बोला, “कुत्ता नहीं बाेलो मुझे। मैं डॉगी हूं डॉगी… ”

“हां चल डॉगी…” -गली का एक कुत्ता बोला। फिर पूछा, “बता, तू किस एंगल से हमारा लीडर नज़र आ रहा है, जो हम तेरे को डॉगीज पार्टी का अध्यक्ष चुन लें? तूने कांच में अपना थोबड़ा देखा है कभी?” यह सुनकर पीडी बोला, “कांच में थोबड़ा तो भैयाजी ने भी नहीं देखा था? पर उन्हें भी तो पार्टी का अध्यक्ष चुन लिया गया ना! तो अाप भी मुझे चुन लो। सिंपल!”

“अबे, हमें कांग्रेसी समझा है क्या…? जा, तू ट्वीट ही कर! गांधी फैमिली में होने का मतलब यह नहीं कि तुझे भी हम अपना नेता चुन लें। जिसको चुनना होगा, हम ख़ुद चुन लेंगे।” -सारे कुत्ते एक साथ गुर्राये।

इसके बाद गली के कुत्तों ने ‘पीडी पप्पू…पीडी पप्पू’ कहकर उसे चिढ़ा दिया और वहाँ से भगा दिया। इसी वजह से वो सुबह से ही रोये जा रहा है। पीडी के साथ यह वाकया सुनते ही राहुल गांधी ज़ोर-ज़ोर से हँसने लगे और बोले- “ऐसी छोटी-छोटी बातों को दिल पे लेना ठीक नहीं है।” फिर उन्होंने उसका मूड ठीक करने के लिए सिद्धूजी को बुलाया। सिद्धूजी पिछले एक घंटे में डेढ़ साै बार खुद ही ताली ठोक चुके हैं लेकिन पीडी का रोना बंद नहीं हुआ है।



ऐसी अन्य ख़बरें