Tuesday, 17th January, 2017
चलते चलते

विधायक के पास 'आय से कम संपत्ति' मिली, शर्मिंदगी की वजह से घरवालों ने भी नाता तोड़ा

17, Mar 2016 By बगुला भगत

लखनऊ. वैसे तो भारत को चमत्कारों की धरती माना जाता है लेकिन इस बार चमत्कार से भी आगे की चीज़ हो गयी। देश में एक ऐसा संदिग्ध नेता मिला है, जिसके पास ‘आय से कम संपत्ति’ मिली है। पुलिस उसे हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है लेकिन संपत्ति इतनी कम कैसे रह गयी, इस बारे में वो अभी तक कोई संतोषजनक उत्तर नहीं दे पाया है।

Leader1
आय से कम संपत्ति वाले विधायक को पकड़कर ले जाती पुलिस

आरोपी विधायक का नाम उमाशंकर त्रिपाठी बताया जा रहा है और कोई भी दल उसे अपना मानने को तैय्यार नहीं है। फ़ज़ीहत से बचने के लिये इन दलों ने कोर्ट से अपील की है कि इस संदिग्ध नेता की पार्टी का नाम सार्वजनिक ना किया जाये।

सभी दलों ने इस घटना की एक स्वर में निंदा करते हुए कहा है कि “यह क़ानून से डरने वाला कोई चालाक इंसान है, जो नेता होने का ढोंग कर रहा है।”

आयकर विभाग ने भी अपनी आदत के अनुसार, उमाशंकर के मकानों और दफ़्तरों पर छापा मारने के लिए चार शहरों के लिये अपनी टीमें रवाना कर दीं, लेकिन जब पता चला कि उसके पास तो सिर्फ़ एक ही मकान है तो सारी टीमें हाथ खुजाते हुए वापस लौट आयीं।

इस बदनामी की वजह से उसके परिवार का घर से निकलना दूभर हो गया है। लोग तरह-तरह की बातें बना रहे हैं। फ़ेकिंग न्यूज़ ने जब उनके परिवार से बात करनी चाही तो कोई भी कैमरे के सामने आने को राज़ी नहीं हुआ। पल्लू की ओट से उनकी पत्नी ने सिर्फ़ इतना कहा कि “यही दिन देखने के लिए हम इस घर में बहू बनकर आये थे क्या! इन्होंने तो हमें कहीं मुंह दिखाने लायक नहीं छोड़ा!” और फूट-फूटकर रोने लगी।

इस ख़बर के फैलते ही ‘गोयनका वर्ल्ड स्कूल’ ने भी उनके बेटे रमाशंकर को स्कूल से निकाल दिया है। स्कूल की प्रिंसिपल लीना कपूर का कहना है कि “ऐसे पैरेंट्स की वजह से हमारे स्कूल का नाम ख़राब होता है। अगर आय से ज़्यादा संपत्ति नहीं होगी तो कोई अपने बच्चे को हमारे स्कूल में कैसे पढ़ा सकता है।”

उधर, इस मुद्दे पर आज संसद में भी जमकर हंगामा हुआ। कांग्रेस के राजीव शुक्ला ने सरकार को घेरते हुए कहा कि “अगर देश में नेताओं की कमाई के लिए ही अच्छा माहौल नहीं है तो फिर इन्वेस्टर कैसे आयेंगे!”



ऐसी अन्य ख़बरें