Friday, 28th April, 2017
चलते चलते

5 मिनट भी सांसदों को चुप बिठा लिया तो सुमित्रा महाजन को दे देंगे 'पर्सन ऑफ़ द ईयर' : TIME

06, Dec 2016 By Ritesh Sinha
sumitra-mahajan-l1
अवार्ड के लिये प्रैक्टिस करती सुमित्रा जी

न्यूयॉर्क/ नयी दिल्ली. ‘टाइम’ मैग्जीन ने सभी को चौंकाते हुए एक  बयान जारी किया है कि अगर लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन, संसद में सांसदों को पांच मिनट के लिए भी चुप बैठा लेती हैं, तो उन्हें तुरंत ‘परसन ऑफ़ द ईयर’ घोषित कर दिया जाएगा। गौरतलब है कि प्रधानमंत्री मोदी पहले ही टाइम के रीडर्स पोल में जीत हासिल कर चुके हैं और लोगों का मानना है कि वे ‘परसन ऑफ़ द ईयर’ बनाए जा सकते हैं इसके बावजूद इस बयान के आने पर इसे बड़ी गंभीरता से लिया जा रहा है।

‘टाइम’ ने अपने लंबे चौड़े बयान में कहा है कि- ‘चूंकि भारतीय सांसदों को चुप कराना दुनिया का सबसे मुश्किल काम है। लोकसभा की कार्यवाही शुरू होने से पहले ही खत्म हो जाती है, इसलिए मैडम सुमित्रा के काम को हल्के में नहीं लिया जा सकता। हम संसद के कामकाज पर लगातार नज़र बनाए हुए हैं। आजकल छींकने से पहले ही भारतीय संसद एड्जर्न हो जाती है इसलिए हमने संसद कवर करने के लिए ऐसे रिपोर्टर को भेजा है जिसे छींक भी नहीं आती। ताकि वो पूरे पांच मिनट तक संसद का कामकाज बिना रुकावट के देख सके। अगर इस दौरान सुमित्रा जी सांसदों को चुप करा लेती हैं तो हम इसे चमत्कार मानते हुए उन्हें तत्काल ‘पर्सन ऑफ़ द ईयर’ घोषित कर देंगे।”

टाइम के इस बयान का इंडिया के कई पॉलिटिकल पंडितों ने भी समर्थन किया है। उनका कहना है कि सांसदों को चुप करा लेना कोई छोटी-मोटी बात नहीं है, और अगर सुमित्रा जी ऐसा कर लेती हैं तो उन्हें निश्चित रूप से ये खिताब मिलना ही चाहिए। उधर, इस खबर के बाद जहाँ एक ओर सुमित्रा महाजन की तारीफ़ हो रही है, वहीँ सुमित्रा जी को इससे कोई फर्क नहीं पड़ता दिखाई दे रहा है। उल्टे सुमित्रा महाजन ने मांग कर दी है कि उन्हें ‘टेक कंपनियों’ के एम्पलॉयी की तरह ‘एडजर्न फ्रॉम होम’ की सुविधा दी जाए ताकि वो भी घर में बैठे-बैठे ही संसद को एडजर्न कर सकें। सिर्फ सांसदों का हल्ला सुनने और एडजर्न करने के लिए ही संसद जाने में उन्हें अच्छा नहीं लगता है।



ऐसी अन्य ख़बरें