Saturday, 23rd September, 2017

चलते चलते

3 लाख रुपए से अधिक के कैश लेन-देन पर रोक लगने से शरद पवार नाराज़, लौटाएंगे पद्म विभूषण

04, Feb 2017 By sagarcasm

पुणे. पिछले 5 दशकों से बड़े-बड़े कैश लेन-देन करने वाले पद्म विभूषण शरद पवार आजकल काफी नाराज़ चल रहे हैं। पहले तो मोदी सरकार ने 500 और 1000 के नोट बंद कर दिए और अब उनहोंने 3 लाख रुपए से अधिक के कैश लेन-देन पर रोक लगा दी है। इससे पवार को इतनी नाराज़गी हो गयी की अब वें अपना पद्म विभूषण लौटाएंगे।

आज का कुबेर
आज का कुबेर

पत्रकारों से बात करते हुए पवार थोड़ा गुस्से में थे। उन्होंने मोदी को निशाना बनाते हुए कहा, “सरकार ब्लैकमनी पर रोक लगाना और कैशलेस इकोनॉमी को बढ़ावा देना चाहती है । मुझे लगता है की हमें काले और गोरे धन में भेद-भाव नहीं करना चाहिए। और रही बात कैशलेस इकॉनमी की तो वो इतनी घटिया इन्टरनेट स्पीड में असंभव है।”

उन्होंने आगे और कहा, “देश में असहिष्णुता अब तक बढे ही जा रही है । यह कैश लेन-देन के खिलाफ इनटॉलेरंस ही तो है। इसके विरोध में, मैं अपना पद्म विभूषण सरकार को वापिस देना चाहता हूँ।” पवार की इस पहल में कई दिग्गज नेता उनका समर्थन कर रहें हैं। सुरेश कलमाड़ी, मायावती, लालू प्रसाद यादव, राहुल गांधी समेत कई लोग आज शाम को पुणे के शनिवार वाड़ा में कैंडल लाइट मार्च करेंगे।



ऐसी अन्य ख़बरें