Thursday, 14th December, 2017

चलते चलते

राहुल गांधी के बयान के बाद अचानक बढ़ी आलू की क़ीमत, मोदी सरकार पर जनता का निशाना

15, Nov 2017 By Guest Patrakar

नयी दिल्ली. चुनाव का मौसम चल रहा है और ऐसे में कोई भी पार्टी या नेता पीछे नहीं रहना चाहता। सभी नेता मौक़े की तलाश में हैं और मौका मिलते ही जनता के सामने बड़े-बड़े वायदे या तोहफ़े पेश कर रहे हैं। कुछ ऐसा ही किया कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने, जिसके बाद प्रधानमंत्री मोदी जनता के निशाने पर आ गए। राहुल गांधी ने गुजरात में रैली के दौरान कहा कि वो एक ऐसी मशीन गुजरात में लगाएँगे जिसमें एक तरफ़ आलू डालने से दूसरी तरफ़ से सोना निकलेगा।

Rahul Gandhi Potato
“इतना बड़ा सोना निकलेगा…इतना बड़ा!”

राहुल के इस ‘आलू’ बयान ने चारों तरफ़ अफ़रा-तफ़री मचा दी, जहाँ एक तरफ़ लोग पेट पकड़ कर हँसते रहे, तो वहीं कुछ लोग पेट के लिए आलू ख़रीदने निकल गए और आलू का स्टॉक जमा करना शुरू कर दिया। देखते ही देखते मार्केट में आलू की भारी कमी हो गयी और आलू के दाम आसमान छूने लगे। इसके लिये जनता ने सीधे मोदी जी को कोसना शुरु कर दिया। कांग्रेस और आम आदमी पार्टी ने भी सरकार की बुरी नीतियों को आलू की बढ़ती क़ीमतों के लिए दोषी ठहरा दिया।

मामला गर्म था कि मोदी सरकार के लिए और एक बुरी ख़बर आ गयी। आलू से सोना बनाना इतना आसान होगा, ये लोगों ने सोचा नहीं था। सोना व्यापारी अपनी दुकानों में ताला लगाकर आलू ख़रीदने निकल लिए। सोने का दाम चाँदी से भी नीचे चला गया। ग़ौरतलब है कि आलू और सोना दोनों ही गुजरात चुनावों को प्रभावित कर सकते हैं। यही कारण है कि विभिन्न न्यूज़ चैनलों ने कल रात अपना एग्ज़िट पोल बदल कर कांग्रेस को विजेता बना दिया।

इस बयान के बाद राहुल गांधी की न केवल भारत में बल्कि पूरे विश्व में तारीफ़ हो रही है। जहाँ भारत में राजनीतिज्ञ उनकी तारीफ़ करते नहीं थक रहे, वहीं अमेरिका के वैज्ञानिकों ने उन्हें पीएचडी से सम्मानित करने के लिए अमेरिका आने का न्योता भेजा है।

राहुल के बयान में कितनी सच्चाई है, ये तो आने वाला समय ही बताएगा, मगर इस पर सारे कांग्रेसियों की चुप्पी यही बताती है कि ख़ुद उनकी पार्टी वालों ने उन्हें अब भी गम्भीरता से लेना शुरु नहीं किया है। उधर, भाजपा ने राहुल गांधी के बयान पर चुटकी लेते हुए कहा है कि “चलो इसी बहाने भारत एक बार फिर सोने की चिड़िया बन जायेगा!”



ऐसी अन्य ख़बरें