Tuesday, 27th June, 2017
चलते चलते

राहुल गाँधी हैं 'साबू' के वंशज इसलिये नोटबंदी पर उनके बोलने से आ सकता है भूकंप

09, Dec 2016 By banneditqueen

दिल्ली. आज राहुल गाँधी ने अपने भाषण में कहा कि अगर वह नोटबंदी पर बोलेंगे तो भूकम्प आ जाएगा। यह सुनते ही लोक सभा के अंदर इतनी ज़ोर से ठहाके लगे कि दिल्ली में हल्के भूकम्प के झटके महसूस किये गए। अंदरूनी सूत्रों की माने तो राहुल गाँधी ने यह बात इसलिये कही क्योंकि वो कल चाचा चौधरी कॉमिक्स पढ़ रहे थे।

भाषण देते राहुल
भाषण देते राहुल

माना जा रहा है कि कल वाली कॉमिक्स में जब साबू को गुस्सा आया तो जूपिटर पर भूकम्प आ गया। उसी तर्ज पर राहुल गाँधी ने अपने पीए को बुला कर सभी भूकंपों की लिस्ट बनवाई और देखा कि जब-जब उन्होनें किसी महत्वपूर्ण मुद्दे पर बात की है तब तब धरती पर कहीं ना कहीं भूकम्प आया है। पिछले वर्ष नेपाल में जब भूकम्प आया था तो उस दिन उन्होनें नोबिता के ज़िद्दी होने की शिकायत डोरेमोन से की थी। इसके बाद राहुल को एहसास हुआ कि शायद वे साबू के दूर दराज के रिश्तेदार होंगे इसी कारण उनके बोलने पर भूकम्प आ जाता है।

राहुल गाँधी ने कल रात नोटबंंदी पर मोदी को चुनौती देने की पूरी तैयारी कर ली थी। परंतु भूकम्प का विशलेषण करने के बाद उन्होनें अपना फैसला बदल दिया। यही कारण था कि आज भाषण में उन्होनें इस बात का खुलासा किया कि वह नोटबंदी पर नहीं बोलेंगे क्योंकि भूकम्प आ जाएगा। अब वैज्ञानिक भी इस बात का अध्ययन करने मेें लगे हैं कि क्या सच में भूकम्प और राहुल की बातों के बीच कोई रिश्ता है। अगर इस बात में थोड़ी भी सच्चाई है तो हो सकता है कि राहुल को कभी भी किसी महत्वपूर्ण मुद्दे पर मा बोलने दिया जाए। हालांकि इस आशंका से कांग्रेस कार्यकरता काफी खुश हैं



ऐसी अन्य ख़बरें