Thursday, 27th July, 2017
चलते चलते

खून की दलाली: अपने बीमार भाई के लिए खून लेने ब्लड बैंक की जगह भाजपा ऑफिस गया युवक, सस्ते में मिला माल

08, Oct 2016 By Ritesh Sinha

नयी दिल्ली. राहुल गाँधी ने जब से नरेंद्र मोदी पर खून की दलाली करने का आरोप लगाया है, इसका सीधा असर अस्पतालों में देखने को मिल रहा है। अस्पतालों में जिसे भी खून की जरूरत पड़ रही है वो ब्लड बैंक जाने के बजाय सीधे भाजपा दफ्तर की ओर कूच कर रहे हैं। लोगों को कहना है कि अगर राहुल गाँधी ने कहा है कि मोदी खून की दलाली करते हैं, तो सारा खून कहीं ना कहीं तो छुपाकर रखते ही होंगे। इसलिए मरीज की जान बचाने के लिए भाजपा दफ्तर जाकर खून पता कर लेने में कोई बुराई नहीं है।

BJP दफ्तर में भीड़ बढ़ने के चलते पुलिस बल तैनात
BJP दफ्तर में भीड़ बढ़ने के चलते पुलिस बल तैनात

ऐसे ही सर गंगाराम हॉस्पिटल में एक डॉक्टर ने मरीज के भाई से कहा- “तुम्हारे भाई को गहरी चोट आई है, उसे खून चढ़ाना पड़ेगा, जल्दी से A+ ब्लड लेकर आओ।” इतना सुनते ही मरीज का भाई प्रकाश मुस्कुराने लगा। प्रकाश को मुस्कुराता हुआ देखकर डॉक्टर ने कहा- ”तुम्हारा भाई अस्पताल में भर्ती है और तुम मुस्कुरा रहे हो! जाओ जल्दी खून लेकर आओ।” इस पर प्रकाश ने कहा- “खून लाना तो मेरे बाएँ हाथ का खेल है। अभी भाजपा के दफ्तर से चार बोतल खून लेकर आता हूँ।” इतना सुनते ही डॉक्टर साब गुस्से में बोले- “अरे गंवार! खून भाजपा के दफ्तर में नहीं ब्लड बैंक में मिलता है।”

तो प्रकाश ने कहा- “गंवार होगी तेरा नर्स! आजकल खून, ब्लड बैंक में नहीं भाजपा के दफ्तर में मिलता है। सुना नहीं राहुल गाँधी ने कल क्या कहा था।” इतना कहते ही  प्रकाश ने आधे घंटे में ही खून लाकर डॉक्टर को दे दिया। प्रकाश को इतनी जल्दी वापस देखकर डॉक्टर ने पूछा- “कहाँ से लाया? बहुत जल्दी आ गया।” तो प्रकाश ने सारा किस्सा बता दिया।किस्सा सुनकर डॉक्टर साब ने कहा- “आज मुझे पता चला कि पुरानी फिल्मों में हीरो को अपनी माँ के लिए ब्लड बैंक में खून क्यों नहीं मिलता था? सारा खून तो भाजपा वाले ले जाते थे ब्लैक में बेचने के लिए। अच्छा किया राहुल गाँधी ने जो इस राज़ से पर्दा उठा दिया।



ऐसी अन्य ख़बरें