Wednesday, 22nd November, 2017

चलते चलते

राधा मोहन सिंह का बयान ''पेशाब खाद का काम करती है, वही पौधों में डालने गया था''

29, Jun 2017 By banneditqueen

एजेंसी. कुछ देर पहले केंद्रीय कृषि मंत्री राधामोहन सिंह की कुछ तस्वीरें सामने आई है, जिसमें वो खुले में पेशाब करते हुए दिख रहे हैं। मोदी जी एक तरफ स्वच्छ भारत का बखान करते नहीं थक रहे वही उन्हीं के कृषि मंत्री उनकी उम्मीदों पर अलग ही तरीके से पानी फेरते हुए दिखाई पड़े। मीडिया ने इस पर बवाल मचाना शुरू ही किया था कि तभी राधा मोहन सिंह जी अपने बचाव में आगे आए।

radha mohanउन्होंने मीडिया से बातचीत में कहा ”कुछ समय पहले जब परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने कहा था कि वे रोज़ाना 50 लीटर पेशाब बचाते है ताकि पौधों में डाल सके क्यूंकि उसमे भरपूर मात्रा में यूरिया होता है तब आप सब ने उनकी बड़ी वाहवाही की थी। अब मैंने राह चलते पौधों में वही यूरिया युक्त पानी चढ़ा दिया तो उस पर बवाल क्यों?” इस पर एक पत्रकार ने पूछा कि ”आप तो दीवार पर पेशाब कर रहे थे वहां तो कोई पेड़ ही नही था, तो फिर आप कैसे कह रहे हैं कि पौधे में पानी डाल रहे थे?”

इस पर राधा मोहन जी ने  गुस्से में पत्रकार को तस्वीर दिखाई और कहा ”ये मुझसे २० मीटर की दूरी पर क्या है? पेड़ ही है न? अब मैं दीवार में इसलिए पेशाब कर रहा था क्यूंकि इस पेड़ की जड़ इस दीवार के नीचे तक आती है, मैं बिना देखे थोड़ी न ऐसे ही कहाँ भी हल्का हो लूँगा।” राधा मोहन जी का ये भी कहना है कि ”सभी को पटरी या सड़क के किनारे के बजाय कोई पेड़ या पौधा ढूंढ वही मूत्र दान करना चाहिए।”



ऐसी अन्य ख़बरें