Saturday, 21st October, 2017

चलते चलते

मनोहर पर्रीकर बन गए गोवा के सीएम, अब दिग्विजय सिंह का पद्म-विभूषण पक्का

16, Mar 2017 By Ritesh Sinha

पणजी. गोवा में सबसे बड़े दल के रूप में उभरने के बावजूद कांग्रेस पार्टी वहां सरकार नहीं बना पाई। वहां से जीतकर आए कांग्रेसी विधायक भी अब अपने बड़े नेताओं को कोसने लगे हैं। कांग्रेस के महासचिव दिग्विजय सिंह को इस महान उपलब्धि के लिए जिम्मेदार बताया जा रहा है, जो सरकार बनाने के लिए गोवा तो गए थे लेकिन एअरपोर्ट पर ही केंद्र सरकार के किसी मंत्री से टकरा गए। इस टकराने के बाद ही सब कुछ गुड़-गोबर हो गया और भाजपा ने वहां अपनी सरकार बना ली। अब इस एहसान के बदले उन्हें अगले साल पद्म-विभूषण से नवाजा जा सकता है।

Manohar-Diggi1
“हैं? मैंने ऐसा क्या कर दिया!”

भाजपा के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू ने दिग्विजय सिंह की तारीफ करते हुए कहा कि “दिग्विजय सिंह ऐसा बोले तो कांग्रेस का सबसे अच्छा लीडर है। मैं पर्सनली उनका बहुत रिस्पेक्ट करता। स्पेशली गोवा वाले मैटर के बाद तो मेरा रिस्पेक्ट सौ-गुना बढ़ गया है। इसलिए हम उनको अगले साल पद्म-विभूषण देने का सोच रहे हैं। खुद मोडीजी भी उनका बहुत तारीफ़ करते हैं। मोडी सरकार किसी का उधारी अपने सर पे लेके नहीं चलता, इसलिए हम डिसाइड किया है कि अपना सरकार बनने के बदले में हम उनको पद्म-विभूषण दे के मामला बराबर कर देंगे।” वहीं, पता नहीं क्यों पद्म-विभूषण देने की इस योजना का नितिन गडकरी ने भी खुलकर समर्थन किया है।

हालाँकि खुद दिग्विजय सिंह इसे कोरी बकवास बता रहे है। फ़ेकिंग न्यूज़ के रिपोर्टर से बातचीत में उन्होंने कहा कि “देखिए! ये सब झूठ है, मैंने बीजेपी पर कोई एहसान नहीं किया है। बल्कि मैंने तो वहां कांग्रेस पार्टी की सरकार बनाने के लिए दिन-रात एक कर दिया था, अब मैं सफल नहीं हो पाया तो इसमें मेरी क्या गलती है!”

फिर वो रिपोर्टर के कान में धीरे से फुसफुसाये- “फिर भी अगर इस छोटी सी बात के लिये मोदी जी मुझे पद्म विभूषण देना ही चाहते हैं तो मैं मना तो नहीं कर सकता ना भाईसाब!”



ऐसी अन्य ख़बरें