Tuesday, 17th January, 2017
चलते चलते

नए नोट छपने से दिल्ली में बढ़ेगा प्रदूषण, मोदी की इस चाल के खिलाफ करेंगे धरना: केजरीवाल

12, Nov 2016 By Pagla Ghoda

नई दिल्ली. पांच सौ और हज़ार के नोटों को बंद करके उनकी जगह नए नोट छापने की सरकार की घोषणा पर “आप“ सुप्रीमो केजरीवाल जी ने केंद्र सरकार को आड़े हाथों लिया है। केजरीवाल जी के अनुसार नए पांच सौ और दो हज़ार के नोटों के छापने से दिल्ली में प्रदूषण की समस्या और भी बढ़ जाएगी, और ये केवल केंद्र सरकार की एक और चाल है दिल्ली सरकार को नीचा दिखाने की।

गुर्राते केजरीवाल
गुर्राते केजरीवाल

जंतर मंतर पर “आप” की एक साप्ताहिक रैली को संबोधित करते हुए केजरीवाल जी गरजे, “यार आज की डेट में सब लोग बोल रहे हैं मोदी ने ब्लैक मनी पे सर्जिकल स्ट्राइक कर दी। यार ये कोई ब्लैक मनी रोकने की स्कीम नहीं, बल्कि ये तो सीधा सीधा आम आदमी पार्टी पर धावा है। और ये हमारे चंदे के कैश की बात नहीं है। नए नोट छपेंगे तो दिल्ली में प्रदूषण बढ़ेगा और उसपे गाली तो आम आदमी पार्टी को ही पड़ेगी? मोदी जी आप कब बंद करोगे हमें तंग करना? आम आदमी पार्टी दिल्ली में बहुत चमत्कार कर रही है। हमें अपना काम करने दीजिये मोदी जी।”

जब भीड़ में मौजूद एक व्यक्ति ने केजरीवाल जी से पूछा के नोट तो दिल्ली में नहीं छपते तो फिर प्रदूषण कैसे होगा, तो केजरीवाल जी काफी क्रोधित हो गए। तमतमाते हुए चेहरे से उन्होंने कहा, “यार वहां पंजाब में भी बादल नें और बीजेपी ने फसलें जला दीं तो उसका धुआं भी दिल्ली में आ गया। क्योंकि वहां पे भी सब आम आदमी पार्टी के खिलाफ मिले हुए हैं जी। जब वहां का धुंआ यहाँ आ सकता है तो फिर नोटों के छापने से जो धुआं उठेगा वो क्यों नहीं आ सकता यार। थोड़ा इमेजिनेशन इस्तेमाल करो यार।” भाषण के तुरंत बाद पार्टी कार्यकर्ताओं नें कुछ पुतले जलाने की कोशिश की परंतु उनमे गीली घास फूस भरी होने की वजह से काफी धुआं उठने लगा और वातावरण में मौजूद प्रदूषण और बढ़ने लगा। नतीजतन रैली में आये लोग तित्तर बितर हो गए। केजरीवाल जी को भी ज़ोर ज़ोर से असली वाली खांसी आने लगी और वो तुरंत अपनी मरसिडीज़ में बैठ कर दूसरी धरना लोकेशन की ओर रवाना हो गए।



ऐसी अन्य ख़बरें