Sunday, 17th December, 2017

चलते चलते

आपस में लड़ने के बजाय सैफई महोत्सव का विडियो देख रहा था यादव परिवार का एक सदस्य, परिवार से निकाला गया

24, Oct 2016 By Ritesh Sinha

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में इन दिनों मुलायम सिंंह परिवार के लोग चुनाव लड़ने की जगह आपस में ही लड़ने में व्यस्त हैं। एक दूसरे को पार्टी से बाहर करने की जुगाड़ में लगे हुए हैं। लेकिन इन सबके बीच यादव परिवार का एक सदस्य इस लड़ाई से दूर सैफई महोत्सव का विडियो देखते हुए रंगे हाथ पकड़ा गया है। बताया जाता है कि पकड़ा गया युवक संजय यादव, मुलायम सिंह का दूर का रिश्तेदार है। समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं को जब ये बात पता चली तो सबने संजय यादव के घर के बाहर विरोध प्रदर्शन करना शुरू कर दिया। कार्यकर्त्ता संजय को जल्द ही परिवार की लड़ाई में शामिल होने की जिद कर रहे थे ताकि झगड़े में नया मोड़ आ सके।

संजय को लताड़ते मुलायम
संजय को लताड़ते मुलायम

समाजवादी पार्टी के नेताओं ने भी संजय को जमकर खरी खोटी सुनाई। जैसे ही ये बात मुलायम सिंह तक पहुंची उन्होंने संजय को तुरंत बुलवाकर जमकर फटकार लगाईं। मुलायम सिंह ने कहा- “हमारे घर में इतना अच्छा ‘लड़ाई’ का प्रोग्राम चल रहा है और तुम घर में चुपचाप बैठकर फ़िल्में देख रहे हो। अरे हमसे नहीं लड़ सकते तो अखिलेश से ही भिड़ जाओ। किसने मना किया है तुम्हें! सारा कुनबा लड़ रहा है और इन जनाब को फ़िल्में देखने से फुरसत नहीं है। निकल जाओ हमारे परिवार से।”-ऐसा कहते हुए मुलायम सिंह ने संजय को घर से बाहर निकाल दिया। वहीँ संजय से रामगोपाल यादव और शिवपाल यादव भी नाराज बताए जा रहे हैं।

इस घटना के बारे में लखनऊ यूनिवर्सिटी में सोशल साइंस के प्रोफेसर हरिप्रसाद शर्मा ने बताया कि- “जब यादव परिवार के सभी लोग आपस में लड़ रहे हैं तो संजय को भी इस लड़ाई में भाग लेना चाहिए था, लेकिन उसने ऐसा नहीं किया। इससे सिद्ध होता है कि आजकल के नौजवान बड़ों की इज्ज़त करना भूल गए हैं। उन्हें सिर्फ मोबाइल और लैपटॉप से ही प्यार है, संस्कार उनके लिए कोई मायने नहीं रखता है।” उधर, संजय को अपनी गलती का एहसास हो गया है। उसने कहा है कि वह जल्द ही अपने भाइयों को ज्वाइन कर लेगा और पार्टी विरोधी कार्यक्रमों में हिस्सा लेकर इस लड़ाई में नई जान फूँकेगा। इस घोषणा के बाद समाजवादी पार्टी के अन्य नेताओं ने राहत की सांस ली है।



ऐसी अन्य ख़बरें