Thursday, 25th May, 2017
चलते चलते

नक्सलियों पर सर्जिकल स्ट्राइक होगी तो अब सबूत नहीं मांगूंगा: हार के बाद केजरीवाल का एलान

26, Apr 2017 By Ritesh Sinha

नयी दिल्ली. एमसीडी चुनाव में मिली करारी हार के बाद अरविंद केजरीवाल ने एलान किया है कि “मैं आईंदा किसी भी सर्जिकल स्ट्राइक का सबूत नहीं मांगूंगा। भविष्य में अगर मोदी जी नक्सलियों के ख़िलाफ़ कोई सर्जिकल स्ट्राइक करेंगे तो मैं उसका वीडियो दिखाने को भी नहीं कहूंगा।” साथ ही, उन्होंने कसम खाई कि “अब मैं एक महीने तक ‘सबूत’ शब्द बोलूंगा ही नहीं!”

kejriwal 11
हार के बाद चिंता में डूबे केजरीवाल

हार के चार घंटे बाद पत्रकारों के सामने आकर केजरीवाल ने कहा कि “देखिए जी! अब अगर मोदी जी कहीं सर्जिकल स्ट्राइक करते हैं, तो मैं उसका पूरा समर्थन करुंगा। मैं तो कहता हूँ कि पूरे देश में सबूत मांगने की प्रथा ख़त्म कर देनी चाहिए जी! मैं पुलिस वालों से मिलूँगा, देश के जजों से मिलूँगा और उनसे कहूँगा कि आप भी बिना सबूत के ही काम चलाइए, इस सबूत-वबूत में कुछ नहीं रक्खा है जी! और हाँ.. इस ‘डिग्री’ में भी कुछ नहीं रक्खा है जी!”

वहीं, ‘आप’ नेता आशुतोष ने अपनी हताशा जाहिर करते हुए कहा कि “सबूत मांगने के चक्कर में हम MCD में ‘साबुत’ भी नहीं बचे। रही-सही कसर EVM महाशय की नाराज़गी ने पूरी कर दी। अरविंद भाई को कितनी बार समझाया है कि हर बात अपने मन की मत किया करो। ‘मन’ से याद आया, इस ‘मन की बात’ वाले ने तो हमें कहीं का नहीं छोड़ा!” -कहते हुए वे भावुक हो उठे। “लेकिन लोग तो कहते हैं कि आप ही उन्हें उल्टी-सीधी सलाह देते रहते हैं!” यह सुनते ही वो भड़क गए और बोले “यह झूठ है। मुझे तो अच्छी या बुरी कैसी भी सलाह देना नहीं आता! लोग फालतू में मुझे बदनाम कर रहे हैं।”

उधर, इस हार के बाद पार्टी के नेता ‘ईंट से ईंट बजाओ’ कार्यक्रम की तैयारी में जुट गए हैं। हालाँकि, यह किसी को नहीं पता कि ईंट से ईंट बजाई कैसे जाती है? लेकिन उन्होंने कसम खाई है कि वे ऐसा करके ही रहेंगे। विशेषज्ञों का भी मानना है कि केजरीवाल को भी ख़ुद ईंटों के बारे में ज्यादा कुछ मालूम नहीं है, लेकिन अब जुबान से निकल ही गया है, तो कुछ ना कुछ तो बजाना ही पड़ेगा।



ऐसी अन्य ख़बरें