Monday, 1st May, 2017
चलते चलते

जानिये कौन-कौन शामिल हो सकते हैं नवजोत सिंह सिद्धू की पार्टी में

04, Sep 2016 By Ritesh Sinha

अमृतसर. नवजोत सिंह सिद्धू ने अपनी नई पार्टी का एलान कर दिया है लेकिन उन्हें अपनी पार्टी के लिए अभी बहुत सारे लोगों की जरूरत है। कुछ लोगों से उनकी बातचीत भी चल रही है। आइये, देखते हैं कि कौन- कौन लोग सिद्धू की पार्टी में शामिल हो सकते हैं-

Danny2
ज़रूरत पड़ने पर सिद्धू बनकर हंस भी सकते हैं डैनी

सबसे पहले जरूरत है पैसा लगाने वाले कीः नाम- विजय मल्ल्या, काम- लोन लेकर सिद्धू की पार्टी में लगाना।

पार्टी चलाने के लिए चाहिए पैसा और इस कमी को पूरा करेंगे ‘विजय माल्या’। माल्या ने पार्टी को लोन दिलाने के लिए कुछ बैंकों से सेटिंग भी कर ली है। इसके आलावा, उनके चार्टर्ड प्लेन चुनाव प्रचार में पार्टी के काम आयेंगे। चुनाव जीतने के बाद जो पार्टी-वार्टी होगी, उसका पूरा ठेका इनको ही मिलेगा क्योंकि ये पार्टी ऑर्गनाइज करने में माहिर हैं।

अब जरूरत है एक ऐसे आदमी की, जो पैसे को मैनेज कर सकेः नाम- ललित मोदी, काम- पाई-पाई का हिसाब रखना और भ्रष्टाचार को रोकना।

ललित मोदी पार्टी में लेन-देन का काम देखेंगे, साथ ही पार्टी के फण्ड में कोई गड़बड़ी ना हो, इसका भी ख्याल रखेंगे। नीलामी और ख़रीदारी वगैरह का सारा काम यही देखेंगे।

अब जरूरत है ऐसे आदमी की, जो दूसरी पार्टी के नेताओं को सिद्धू की पार्टी में ला सकेः नाम- अमर सिंह, काम-  पैसा और और नेताओं को खींचना।

अमर सिंह, ललित मोदी के साथ मिलकर दूसरी पार्टी के नेताओं को सूटकेस दिखाकर सिद्धू की पार्टी में खींचेंगे। ये सिर्फ चुनाव तक ही पार्टी में रहेंगे, ‘नेकी करके दरिया में डालने’ के बाद ये कहीं और ‘नेकी’ करने निकल जायेंगे।

अब जरूरत है विवादित बयान देने वाले कीः नाम- विशाल डडलानी, काम- विवादित बयान देना (ट्विटर स्पेशलिस्ट)।

ये पहले आम आदमी पार्टी में थोड़े-थोड़े थे, आजकल उतना भी नहीं हैं। तो अब ये सिद्धू की पार्टी में शामिल हो सकते हैं। ट्विटर पर विवादित बयान देने के स्पेशलिस्ट हैं, अर्नब को गुस्सा दिलाने के काम आ सकते हैं।

अब जरूरत है भीड़ इकठ्ठा करने वाले कीः नाम- डैनी मोरिसन, काम- अजीब हरकतें करके भीड़ इकठ्ठा करना।

सिद्धू के पुराने दोस्त हैं, दोस्त के लिए इतना तो कर ही सकते हैं। ये अपनी ऊंट-पटांग हरकतों से भीड़ इकठ्ठा करेंगे। पंजाब चुनाव होने तक इन्हें अमृतसर की सेंट्रल जेल में ठहराया जाएगा।

अब जरूरत है भीड़ को शांत कराने वाले कीः नाम- शत्रुघ्न सिन्हा, काम- किसी को भी ‘खामोश’ कर देना।

ये बहुत दिनों से भाजपा से नाराज चल रहे हैं। सिद्धू की पार्टी में आने के बाद रैली में हल्ला मचाने वालों को ‘खामोश’ करने का काम करेंगे। इसके आलावा, ये ऐसे बयान भी देने में माहिर हैं, जो किसी की समझ में ना आए।

इन सब को मिलाने के बाद थोड़ा सा नमक स्वादानुसार डालने पर पार्टी तैयार हो जाएगी। जब इस नई टीम के बारे में सिद्धू से संपर्क किया गया तो उन्होंने एक शेर और मार दिया “बारह बजे जो ऑफिस आए उसे देर कहते हैं, सड़क किनारे जो पड़ा हो उसे कूड़े का ढेर कहते हैं, पर्वत जैसा सीना है हमारी टीम का, इसलिये लोग हमें पंजाब का शेर कहते हैं। ठोंको ताली!”



ऐसी अन्य ख़बरें