Tuesday, 24th October, 2017

चलते चलते

2019 के लिए बाद में बनाएंगे गठबंधन, फिलहाल अर्नब के ख़िलाफ़ हाथ मिलाओ: लालू की सभी दलों से अपील

12, May 2017 By Ritesh Sinha

पटना/नयी दिल्ली. बहुत दिनों से मोदी के खिलाफ महागठबंधन बनाने की अपील करने वाले लालू यादव ने अब अपने प्लान में थोड़ा बदलाव कर दिया है। उन्होंने कहा है कि “2019 के चुनाव के लिए गठबंधन बाद में बनाते रहेंगे, पहले इस अर्नब के खिलाफ तगड़ा गठबंधन बनाने की ज़रूरत है।” उन्होंने केजरीवाल, ममता, कांग्रेस, मायावती और वामदलों से एक मंच पर आकर अर्नब का मुकाबला करने की अपील की है। दरअसल, लालू को लगता है कि अर्नब अगर इसी स्पीड से खुलासे करता रहा, तो वे 2019 में गठबंधन के लायक भी नहीं बचेंगे।

Lalu-Arnab3
“ई ससुर का नाती बहुत टेंसन दे रहा है!”

लालू ने सभी विरोधी दलों के नेताओं को कॉन्फ्रेंस कॉल पे लेकर कहा, “ऐ बुड़बक! हमरा इंपोटेंट बात सुनो सब लोग! ई मोदी और अमितवा को तो हम बाद में देख लेंगे, पहले इस ससुरे अर्नब से निपटो! नहीं तो सबको धोती संभालना पड़ेगा, कहे देते हैं हम! बाद में मत कहना कि लालू ने बताया नहीं। पहले इसको हटाओ….तभी दिल्ली की कुर्सी का सपना देखो, वरना भूल जाओ!”

लालू की इस अपील का असर भी तुरंत दिखाई देने लगा है। सभी दलों ने उन्हें भरोसा दिलाया है कि जल्द ही अर्नब के खिलाफ महागठबंधन बनाने के लिए मीटिंग रखी जाएगी। इस मीटिंग में वे अर्नब से निपटने की रणनीति बनाएंगे। सूचना मिली है कि इस मीटिंग में मुलायम और शशि थरूर के हिस्सा लेने पर रोक लगा दी गई है, क्योंकि मीटिंग का सारा टाइम थरूर की इंग्लिश और मुलायम की हिंदी को समझने में ही खर्च हो जायेगा।

बाद में फ़ेकिंग न्यूज़ से बातचीत में लालू ने बताया कि “ई अर्नब बड़ा निष्ठुर है, उसने पहले तो हमें घसीटा, फिर केजरीवाल को लपक लिया, और अब सुनता हूँ कि शशि थरूर को लपेट रहा है। कहाँ जा के रुकेगा रे बचुआ!” इसी बीच लालू का मोबाइल बज उठा और वो जेल में बंद किसी आदमी से बात करने लगे। उधर, अर्नब की स्पीड को देखकर बीजेपी के भी कुछ नेता डरे हुए हैं। बीजेपी के एक वरिष्ठ नेता ने नाम ना छापने की शर्त पर कहा कि “ये अर्नब साला मिसगाइडेड मिसाइल है, पता नहीं कब किधर को चल जाये!”



ऐसी अन्य ख़बरें