Sunday, 25th February, 2018

चलते चलते

लालू जी अंदर क्या गए, जजों में झगड़ा हो गया: तेजस्वी ने बताया चमत्कार

15, Jan 2018 By Ritesh Sinha

पटना. दूसरों का झगड़ा निबटाने वाले ‘जज’ आजकल खुद ही झगड़े में पड़ गए हैं। सुप्रीम कोर्ट के चार जजों ने चीफ जस्टिस मिश्रा के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। उधर, इस मौके का फायदा उठाते हुए लालू यादव के सुपुत्र तेजस्वी यादव ने कहा है कि, “ये सब लालू जी को जेल भेजने की वजह से हो रहा है, जैसे ही वो जेल गए जजों में झगड़ा हो गया! क्योंकि उन्होंने जेल से ही जजों को श्राप दे दिया है!”

खुद को आशिर्वाद देते लालू
खुद को आशिर्वाद देते लालू

एक रैली में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि, “जब तक लालू जी बाहर थे, देश में सबकुछ ठीक-ठाक चल रहा था! जैसे ही वे अंदर गए, जजों में झगड़ा हो गया! ये चमत्कार नहीं है तो और क्या है? इसलिए मैं कहता हूँ कि उन्हें रिहा करो, नहीं तो ऐसे अपशकुन होते रहेंगे!”-तेजस्वी ने धमकी देते हुए कहा।

वे ऐसा कह ही रहे थे कि वे दो कार्यकर्ता वहां आ पहुंचे जो कुछ दिन पहले लालू यादव की सेवा करने जेल चले गए थे। उन्हें देखते ही तेजस्वी ने अपना भाषण रोक दिया और लालू जी के लिए राशन के जुगाड़ में लग गए। “अच्छे से सेवा करना बे! वहां कोई कमी नहीं होनी चाहिए उन्हें! अच्छे से मालिश करना सुबह-शाम! -कहते हुए उन्होंने उन दोनों को फिर से जेल जाने के लिए विदा कर दिया। साथ ही लालू यादव के लिए दही-चूड़ा भी पार्सल कर दिया।

“जब तक लालू जी अंदर रहेंगे ‘किरपा’ रुकी रहेगी! जज लोग झगड़ते रहेंगे! अगर यह संकट ख़त्म करना है तो उन्हें तुरंत रिहा किया जाए!” -तेजस्वी ने फिर से भाषण देते हुए कहा। कार्यकर्ता ख़ुशी से झूमने लगे।

उधर, नीतीश कुमार ने तेजस्वी के इस दावे को निराधार बताया है। उन्होंने कहा कि, “ये तेजू पगला गया है! सुप्रीम कोर्ट के विवाद का लालू जी से कोई लेना देना नहीं है! वैसे भी लालू जी को जादू-टोना नहीं आता!” कहते हुए वे सुशील मोदी और रामविलास पासवान के साथ तिलकुट खाने रवाना हो गए।



ऐसी अन्य ख़बरें