Tuesday, 17th January, 2017
चलते चलते

केजरीवाल ने अकेले खाए 1 साल में 47 लाख के समोसे , कहा खाँसी के लिये सबसे कारगर तरीका यही था

08, Sep 2016 By banneditqueen

दिल्ली. जब सेे आम आदमी पार्टी का सरकार बनी है शायद ही कोई ऐसा दिन हो जिस दिन केजरीवाल या उनके विधायक खबरों में न छाए हों। कुछ दिनों पहले विवेक गर्ग नामक व्यक्ति ने RTI दायर करके केजरीवाल सरकार के चाय नाश्ते पर खर्च की जानकारी निकाली। केजरीवाल सरकार का साल भर का खर्चा लगभग 1 करोड़ के आसपास था, वहीं केजरीवाल अकेले 47 लाख के समोसे गप कर गये।

समोसा देख ललचाते केजरीवाल
समोसा देख ललचाते केजरीवाल

इस बात पर फेकिंग न्यूज संवाददाता ने सबसे पहले केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी से प्रतिक्रिया माँगी। गडकरी जी ने बात करने से साफ इंकार कर दिया। गडकरी जी के पी.ए. ने बताया कि “इस खबर के बाद से गडकरी जी सकते में हैं, सुबह से तकरीबन 20 समोसे खा चुके हैं क्योंकि वह यही सोचते थे कि समोसा खाने में उनका मुकाबला कोई नहीं कर सकता।” केजरीवाल सरकार के ‘समोसे पे खर्चा’ की खबर धीरे धीरे आग की तरह फैल गई। शाम को केजरीवल ने प्रेस कांफ्रेंस बुलाई। कांफ्रेंस के पहले भी लगभग 3000 रुपये के समोसे मंगाए गए।

कांफ्रेंस में केजरीवाल ने कहा “साथियों मैं जानता हूँ आप सभी सोच रहे होंगे की एक आम आदमी ने समोसों पर (खाँसते हुए एक और समोसा उठाया और चटनी में डुबाया) इतना खर्चा कैसे कर दिया। मेरी खाँसी की तकलीफ से तो आप सभी वाकिफ हैं अगले हफ्ते मैं गले की सर्जरी के लिये बंगलोर जा रहा हूँ। डॉक्टरों का ऐसा कहना था कि जब तर मेरी खाँसी चरम पर नहीं पहँचती है मैं सर्जरी नहीं करवा सकता इसीलिए मैनें रोज़ समोसा खाना शुरू कर दिया ताकि खाँसी और बढ़ सके, क्या एक आम आदमी अपनी सेहत के लिये समोसे भी नहीं खा सकता”। कांफ्रेंस के बाद आप नेता आशुतोष ने कहा कि “मोदी जी अपना काम करें, आम आदमी अपनी थाली में क्या खा रहा है इस पर उन्हें कोई आपत्ति नहीं होनी चाहिये।”



ऐसी अन्य ख़बरें