Wednesday, 28th June, 2017
चलते चलते

केजरीवाल ने ११००० बार मोदी का जाप पूर्ण किया; गणेश चतुर्थी पर होगा विसर्जन!

20, Aug 2016 By चीखता सन्नाटा

नई दिल्ली. आम पार्टी की ओर से बुलाई गयी प्रेस कांफ्रेंस में उस समय सन्नाटा छा गया जब दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल जी ने उपस्थित पत्रकारों को अपनी गुप्त मोदी साधना पूरी होने की सूचना दी|

“वर्षों पहले हिमालय से आए एक सिद्ध योगी ने केजरीवाल को मोदी के नाम का दिन में १०१ बार जाप करने की सलाह दी थी”, केजरीवाल जी के एक निकट सहयोगी ने हमारे संवाददाता को बताया, “उन दोनों खांसी के कारण परेशान रहने के कारण योगी द्वारा बताए उपाय पर केजरीवाल जी तुरंत अमल नहीं कर पाए| दिल्ली के सीएम बनने के तुरंत बाद जब केजरीवाल जी को अपनी भूल का एहसास हुआ तो उन्होंने प्रायश्चित के तौर पर मोदी का नाम ११००० बार जाप लेने का प्रण लिया”, कहते हुए उन्होंने अपने दोनों हाथ जोड़कर मन ही मन केजरीवाल जी के दिव्य रूप को प्रणाम किया, “देश हित में यह कठिन साधना सिर्फ केजरीवाल जी जैसा सिद्ध योगी ही कर सकता है|”

“प्रेस कांफ्रेंस मोदी जी से जुड़े आप पार्टी द्वारा किए गए सर्टिफाइड स्टिंग ऑपरेशन में मिली जानकारियां साझा करने के लिए बुलाई गयी थी| लेकिन आम पार्टी द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति ने वर्षों पुराने केंद्र सरकार और दिल्ली सरकार के टकराव में ठहराव ला दिया है| वाकई, देश की राजनीति गर्त में जा रही है”, एक पत्रकार खिन्नता से बोला|

श्रदेय केजरीवाल जी का गंगा में विसर्जन का पुण्य कमाते हुए पार्टी कार्यकर्ता
श्रदेय केजरीवाल जी का गंगा में विसर्जन का पुण्य कमाते हुए पार्टी कार्यकर्ता

बाकी पत्रकारों ने भी इस बात की पुष्टि की कि उन्हें इस विषय में आज सुबह ही सूचना मिली है| अपने प्रण के अनुसार मोदी नाम का ११००० बार जाप पूर्ण करने के बाद केजरीवाल जी गंगा में डुबकी लेकर अपनी साधना को सिद्ध करेंगे|

हमारे संवाददाता ने इस विषय में अपना जांच आगे बढ़ाई तो सारा सच खुलकर सामने आ गया|

“पहले मुझे कब्ज की बीमारी थी| चारों तरफ बुरी हवाओं का साया था जिसकी वजह से मन बड़ा विचलित रहता था”, केजरी जी अपने पुराने समय को याद करते हुए थोड़े भावुक हो गए, “लेकिन मोदी नाम का निरंतर जाप करने से मेरे कब्ज दस्त में बदल गए| खांसी भी पहले से ठीक हो गयी| इस चमत्कारी नाम का प्रतिदिन जाप करने से मेरे जीवन के बोझ रोज हलके हो जाते है| अब मैं अपनी नित्य क्रियाओं का निर्वाह करने से पहले नियम से मोदी नाम की माला १०१ बार जाप करता हूँ|”

केजरीवाल जी से प्रेरणा लेते हुए आम आदमी पार्टी के सभी कार्यकर्ताओं ने मोदी नाम की मोतियों की माला बनवा कर अपने गले में डाल ली है| पार्टी ने हाल ही में व्हिप जारी कर अपने सभी युवा कार्यकर्ताओं को मोदी नाम का सदा जाप करते रहने का फरमान सुनाया है|

“हम खुशकिस्मत है कि केजरीवाल जी ने सही समय पर हमारा मार्गदर्शन कर हमारा जीवन व्यर्थ जाने से बचा लिया”, एक कार्यकर्ता अपने हाथों की उंगलियों से मोदी माला के मोती फेरते हुए बोला, “माननीय केजरीवाल जी ने अपने राजनीतिक जीवन की शुरुआत मोदी जी के नाम जपने से की थी| हमें पूरा यकीन है कि उनके पद-चिन्हों पर चल कर हमारा भी उद्धार होगा|”

इधर मीडिया में केजरीवाल के गंगा में नहाने की खबर फैलते ही गंगा बचाओ आंदोलन के सदस्यों ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है|

“केजरीवाल जी, पहले यह बताए कि उन्होंने आख़िरी बार कब नहाया था?”, आंदोलन के एक सदस्य ने मीडिया कर्मियो से बातचीत के दौरान पूछा, “वह सिर्फ किए-कराए पर झाडू लगाना जानते है| स्नान करना उनके बस की बात नहीं है|”

इसके उत्तर में आम आदमी पार्टी ने आरटीआई दायर कर प्रधानमंत्री मोदीजी के २००१ से अब तक किए गए रोजाना स्नान का सिलसिलेवार ब्यौरा माँगा है| साथ ही मोदी जी द्वारा स्नान के दौरान इस्तेमाल में लाए गए साबुन की टिक्की को बतौर सबूत कोर्ट में पेश करने का भी अनुरोध किया है|

“यह सरकार सूट-बूट पहन कर नहाने का नाटक करती है”, आम आदमी पार्टी का एक कार्यकर्ता चीखा, “रोज नहाया होता तो ५६ इंच का सीना केजरीवाल जी जैसा ढांचा बन गया होता|”

आम आदमी पार्टी ने अपने सभी कार्यकर्ताओं से केजरीवाल को गंगा में विसर्जन डुबकी लगाने में सहयोग के लिए गुजारिश की है| राजनीतिक गलियारों में पार्टी का यह कदम अमेरिका के राष्ट्रपति चुनाव से जोड़कर देखा जा रहा है|



ऐसी अन्य ख़बरें