Thursday, 19th January, 2017
चलते चलते

महेश गिरि ने लैपटॉप पर चलायी 'उड़ता पंजाब', तुरंत घर से बाहर निकल आये केजरीवाल

20, Jun 2016 By banneditqueen

नई दिल्ली. पुरानी कहावत है कि ‘जब घी सीधी उंगली से ना निकले तो उंगली टेढ़ी करनी पड़ती है’। बीजेपी के सांसद महेश गिरि ने भी अरविंद केजरीवाल को घर से निकालने के लिये कुछ ऐसा ही किया।

Kejriwal
“बाहर फ़िल्म चल रही है और मैं यहां घर में बैठा हूं”

गिरि ने केजरीवाल को बहस करने की चुनौती दी थी और कल से ही केजरीवाल के घर के सामने धरना दिये बैठे थे। लेकिन उनकी लाख कोशिशों के बावजूद भी दिल्ली के सीएम बहस करने के लिये घर से बाहर नहीं निकले। उधर, धरने पे भूखे-प्यासे बैठे गिरि की सेहत गिरने लगी तो उन्हें चिंता सताने लगी कि अगर वो नहीं निकले तो क्या होगा।

तभी एक चेले ने उन्हें सलाह दी कि “सर, मेरे पास एक आइडिया है!” “वो क्या?”- गिरि ने पूछा। “सर, केजरीवाल के दिमाग़ में हर समय सिर्फ़ दो ही चीज़ें चलती रहती हैं- पंजाब और फ़िल्म! हम इन दोनों के जाल में फंसाकर उन्हें घर से बाहर निकाल सकते हैं।”

गिरि को आइडिया जम गया। उन्होंने तुंरत लैपटॉप मंगाकर उस पर फुल वॉल्यूम में ‘उड़ता पंजाब’ चला दी। फ़िल्म चलने की आवाज़ केजरीवाल के कानों में पहुंची तो उन्होंने बेडरूम की खिड़की से झाँक कर देखा- “ओ तेरे की! बाहर तो फिलम चल रही है जी!”

उन्होंने उचक-उचककर देखने की बहुत कोशिश की लेकिन लैपटॉप की स्क्रीन नहीं दिख पायी। उसके बाद उन्होंने घर की छत पर कुर्सी पर खड़े होकर भी देखा लेकिन स्क्रीन दूसरी तरफ़ होने की वजह से वहां से भी कुछ नहीं दिख पाया। आखिर मजबूर होकर उन्हें घर से बाहर आना ही पड़ा।

जैसे ही उन्होंने घर से बाहर क़दम रखा, गिरि के समर्थकों ने उन्हें घेर लिया और ‘बहस करो…बहस करो’ के नारे लगाने लगे। केजरीवाल की लालची नज़रें लैपटॉप पर ही टिकी हुई थीं। उन्होंने शर्त रखी कि “पहले पूरी पिक्चर दिखाओ, उसके बाद जो बोलो!” गिरि ने कुछ सेकेंड सोचा और फिर राज़ी हो गये।

अंतिम समाचार लिखे जाने तक केजरीवाल फ़िल्म देख रहे थे और गिरि फ़िल्म ख़त्म होने का इंतज़ार करते हुए उनका मुंह देख रहे थे और ट्विटर पर #MovieAddictKejriwal ट्रेंड कर रहा था।



ऐसी अन्य ख़बरें