Tuesday, 24th October, 2017

चलते चलते

राहुल की स्पीच पर हंसने पर लोकसभा स्पीकर ने जेटली और गोयल को सदन से निष्कासित किया

30, Jul 2016 By बगुला भगत

नयी दिल्ली. कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की महंगाई वाली स्पीच पर हंसना मोदी सरकार के दो मंत्रियों को काफ़ी महंगा पड़ गया। लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने वित्त मंत्री अरुण जेटली और खेल मंत्री विजय गोयल को हंसने पर एक हफ़्ते के लिये सदन की कार्यवाही से निष्कासित कर दिया है। स्पीकर ने दोनों मंत्रियों को असंसदीय आचरण का दोषी पाया है।

Rahul Gandhi2
लोकसभा में हंसाते बोलते राहुल गांधी

लोकसभा में हंसी की यह घटना उस समय घटी, जब राहुल महंगाई को लेकर प्रधानमंत्री मोदी पर हमला बोल रहे थे। लेकिन उनके इस हमले से घायल होने के बजाय जेटली और गोयल हंसने लगे। उनकी देखा-देखी और सांसदों ने भी हंसना शुरु कर दिया।

उन्हें हंसता देख कांग्रेसी सांसदों ने हल्ला मचाना शुरु कर दिया। उन्होंने मांग की कि “दोनों मंत्रियों की हंसी को सदन की कार्यवाही में शामिल ना किया जाये। अगर ये हंसी कार्यवाही से नहीं निकाली गयी तो आने वाली पीढ़ियों के सांसद कहेंगे कि हमारे उपाध्यक्ष की स्पीच पर लोग हंसते थे।”

कांग्रेस के वरिष्ठ सांसद और लोकसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने उनकी हंसी का विरोध करते हुए कहा कि “स्पीकर मैडम, आज दो लोग हंसे हैं, कल को पूरा सदन हंसेगा। इस तरह तो राहुल जी को कभी बोलने के लिये सही माहौल मिल ही नहीं पायेगा।” स्पीकर ने कांग्रेस की इस मांग को मान लिया और जेटली और गोयल को सात दिन के लिये सदन से निष्कासित कर दिया।

सत्ता पक्ष के सदस्य स्पीकर के इस फ़ैसले का विरोध करते हुए वेल में आ गये। उनका कहना था कि “हंस तो और लोग भी रहे थे, फिर हमारे सांसदों को ही क्यूं निकाला जा रहा है?” लेकिन स्पीकर महोदया ने उनकी मांग को यह कहते हुए ख़ारिज़ कर दिया कि “औरों को उकसाया तो जेटली और गोयल ने ही था। अगर वे ना उकसाते तो लोग इस तरह खुलकर नहीं हंसते, मुंह छुपाकर चुपचाप ‘खीं खीं-खीं खी’ करते रहते।”



ऐसी अन्य ख़बरें