Monday, 24th July, 2017
चलते चलते

राहुल गाँधी को फिर से लांच करने में ISRO करेगी मदद

09, Nov 2016 By bapuji

नई दिल्ली. कांग्रेस के चिराग और देश के भावी प्रधानमंत्री राहुल गाँधी जी को पार्टी बार-बार लाँच करने की कोशिश करती है लेकिन हर बार राहुल गाँधी की बयानबाज़ी से इस कोशिश पर पानी फिर जाता है।हाल में ही पार्टी ने यू.पी. विधानसभा चुनावों के लिए महान चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर को काफ़ी बड़े पैकेज पर नौकरी दी लेकिन राहुल की खाट सभाओं की विफलता और खाट की चोरी के बाद पार्टी को प्रशांत किशोर में ‘तुमसे ना हो पाएगा’ जैसी स्थिति नज़र आ रही है और ऐसे मे पार्टी क़ैडर का मनोबल गिर रहा है।

इसी सैटलाइट के साथ भेजे जाएंगे राहुल
इसी सैटलाइट के साथ भेजे जाएंगे राहुल

वैसे राहुल गाँधी हर बड़े चुनाव से पहले नये तरीके से देश की जनता को पेश किए जाते हैं। राहुल गाँधी जी इससे पहले बैंकॉक जैसे पवित्र धार्मिक स्थल पर गहन साधना कर के आए थे और आते ही धमाके से लांच किए गये थे, लेकिन फिर भी जनता ने इस तपस्वी को स्वीकार नही किया। चुनाव आते रहे और जाते रहे लेकिन 46 वर्ष के इस युवा नेता का हर लाँच विफल रहा और अब कार्यकर्ता भी राहुल की योग्यता पर संदेह करने लगे हैं। कई प्रदेश कमेटियो से प्रियंका-प्रियंका की आवाज़ भी आने लगी है।

खाट सभा वाली लाँच के विफल होने के बाद पार्टी को यू.पी. चुनाव में हार साफ दिखने लगी है। ऐसे में पार्टी ने अब राहुल गाँधी को फिर से लाँच करने का फ़ैसला किया है और इस बार इस काम के लिए ISRO की मदद ली जाएगी। इस बारे में जानकारी देते हुए कांग्रेस के प्रवक्ता फरजीप खुर्जेवाला ने बताया – “ISRO ने बहुत सारे देशी और विदेशी उपग्रहो को कम दामो में उपर पहुँचाया है और सफल लाँच मे ISRO का कोई तोड़ नही है। इसीलिए हम राहुल गाँधी को लाँच करने के लिए ISRO की मदद लेंगे शायद कुछ बात बन जाए।” गौरतलब है कि आजकल ISRO सबसे अधिक उपग्रह लांच करने का रिकॉर्ड बनाने के प्रयास में है। कांग्रेसी इस जुगाड़ में हैं कि इसी महा लाँच के साथ राहुल जी को भी भेज दिया जाए।



ऐसी अन्य ख़बरें