Monday, 27th February, 2017
चलते चलते

पायलट प्रोजेक्ट के तहत दो दिन के लिए लगाया जाएगा 'इमरजेंसी', पसंद आया तो और बढ़ाया जाएगा

06, Nov 2016 By Ritesh Sinha

नयी दिल्ली. पिछले कुछ दिनों से कुछ लोग इमरजेंसी-इमरजेंसी चिल्ला रहे हैं। हालाँकि अभी सरकार ने इमरजेंसी का एलान नहीं किया है, फिर भी इन लोगों को लगता है कि इमरजेंसी लगाया जा चुकी है। अब इन लोगों की भारी मांग को देखते हुए केंद्र सरकार ने पायलट प्रोजेक्ट के तहत दो दिन के लिए सच में इमरजेंसी लगाने का फैसला किया है। इन दो दिनों की ‘इमरजेंसी’ को अगर लोग पसंद करते हैं तो इसे अगले एक साल तक के लिए बढ़ा दिया जाएगा। सूत्रों से पता चला है कि ‘इमरजेंसी’ बहुत अच्छी चीज़ होती है और इसके लग जाने से जनता को भारी फायदा होता है।

संवाद्दाता से बात करते राजनाथ
संवाद्दाता से बात करते राजनाथ

इस निर्णय की जानकारी देते हुए गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने बताया कि- “हमने देखा है कि कुछ लोगों का पहला प्यार ही इमरजेंसी है, इसीलिए वो दिन भर इमरजेंसी-इमरजेंसी चिल्लाते रहते हैं। अब उन्ही लोगों की भारी मांग को देखते हुए हमने दो दिनों तक इमरजेंसी लगाने का फैसला किया है। पहले हम पायलट प्रोजेक्ट के रूप में सिर्फ दो दिनों के लिए इमरजेंसी लगाएँगे, अगर लोगों को अच्छा लगा तो हम इसे आगे भी बढ़ा सकते हैं।”- गृहमंत्री ने विस्तार से बताया। जब गृहमंत्री से पूछा गया कि इमरजेंसी लगने के बाद आप पहला काम क्या करेंगे? तो गृहमंत्री ने जवाब दिया कि- “इन इमरजेंसी गैंग वालों को गिरफ्तार करेंगे।”

उधर, ये खबर सुनकर इमरजेंसी-इमरजेंसी चिल्लाने वाले एक्टिविस्ट ख़ुशी से फूले नहीं समा रहे हैं। ऐसे ही एक शख्स जो पेशे से वकील हैं उन्होंने बताया कि- “जब से मैंने सुना है कि देश में ‘इमरजेंसी’ लगने वाली है, तब से मेरे पाँव जमीन पर नहीं पड़ रहे हैं। मैं इसकी लगातार मांग कर रहा था। पिछले महीने जब मेरी कार का पिछला टायर पंक्चर हो गया था तब भी मैंने इमरजेंसी लगाने की मांग की थी। अब हमारी मांग मान ली गई है तो मैं अब बहुत खुश हूँ।”- ऐसा कहते हुए वकील साहब एक आतंकवादी के आरोपी को जमानत दिलाने चले गए।



ऐसी अन्य ख़बरें