Monday, 21st August, 2017

चलते चलते

बीजेपी ने केजरीवाल से पूछा- "गोवा में हमारे चांस कौन सी 5 सीटों पर हैं, बस थोड़ा सा हिंट दे दो"

29, Jun 2016 By बगुला भगत

पणजी. अरविंद केजरीवाल के गोवा में 35 सीटें जीतने के दावे के बाद बीजेपी के नेताओं में अफरा-तफरी मची हुई है। उनकी समझ में ये नहीं आ रहा कि केजरीवाल ने हमारे लिये जो 5 सीटें छोड़ी हैं, वे आख़िर हैं कौन सी! सब अपने-अपने हिसाब से अंदाज़ा लगा रहे हैं।

Kejri8
गोवा में जीत का जश्न मनाने का डेमो दिखाते केजरीवाल

गोवा के मुख्यमंत्री लक्ष्मीकांत पारसेकर ने उन 5 सीटों का नाम पूछने के लिये केजरीवाल को कई बार फ़ोन किया लेकिन उन्होंने उठाया ही नहीं। हारकर पारसेकर को चिट्ठी लिखनी पड़ी। चिट्ठी में उन्होंने पूछा है कि “भाई जी, वे कौन सी पांच सीटें हैं, जिन पे हमारे जीतने के चांस हैं। बस, आप हमें थोड़ा सा हिंट दे दो।”

वो चिट्ठी में आगे लिखते हैं कि “फालतू में इधर-उधर टक्कर मारने से क्या फ़ायदा! इससे तो अच्छा है कि हम उन सीटों पे ही मेहनत करें, जिन पे थोड़ा-बहुत चांस है।”

“भाई जी, अगर आप ये 5 सीटें भी ना छोड़ते, तभी हम आपका क्या बिगाड़ लेते! दिल्ली में तो आपने 3 ही दी थीं, ये उनसे तो ज़्यादा ही हैं। आपने तो मुझे थैंक्स कहने का टाइम भी नहीं दिया, उधर से ही निकल गये।”-पासरेकर ने अंत में लिखा।

ख़ैर, बीजेपी कुछ सीटों पर लड़ने की हिम्मत तो दिखा रही है, बेचारी कांग्रेस तो इतना डर गयी है कि उसने तो चुनाव से अलग रहने का ही मन बना लिया है। पार्टी के नेताओं का मानना है कि “पांच में से हमारे हाथ तो कुछ लगना है नहीं, फिर बेकार में पैसा फूंकने से क्या फ़ायदा! इस पैसे को हम किसी और काम में यूज करेंगे।”

इस बीच, आम आदमी पार्टी में इस मुद्दे पर मतभेद पैदा हो गये हैं। पार्टी के वरिष्ठ नेता आशुतोष का कहना है कि “जब हम सारी सीटें आसानी से जीत सकते हैं तो फिर 5 सीटें भी क्यूं छोड़ें! अरविंद भाई को दुश्मन पर रहम नहीं करना चाहिये, उसे पूरी तरह से कुचल देना चाहिये।” उन्होंने इस बारे में ट्वीट भी किया- “why should we live these 5 shits. we shuold win one-one shit of Goa.”



ऐसी अन्य ख़बरें