Friday, 23rd June, 2017
चलते चलते

2015 के बिहार युद्ध में बीजेपी सेना ने महागठबंधन को हराया था- बीजेपी विधायक का दावा

28, Feb 2017 By बगुला भगत

पटना/जयपुर. बीजेपी विधायक मोहनलाल गुप्ता ने अब दावा किया है कि सन् 2015 में बिहार में महागठबंधन और एनडीए की सेना के बीच लड़े गये चुनावी युद्ध में जीत एनडीए सेना की हुई थी। गुप्ता जी ने चुनाव आयोग को पत्र लिखकर बिहार के चुनावी इतिहास को फिर से लिखने की मांग की है।

Bihar War
महगठबंधन-एनडीए के बीच हुए पाटलिपुत्र युद्ध का एक दृश्य

गुप्ता जी के दावे के बाद राजनीतिक जगत में भूचाल आ गया है क्योंकि अभी तक लोग यही मानते आये थे कि इस चुनावी युद्ध में नीतीश, लालू और कांग्रेस की महागठबंधन सेना ने बीजेपी के नेतृत्व वाली एनडीए सेना को हराया था। इस युद्ध में एनडीए सेना की कमान चक्रवर्ती सम्राट नरिन्दरदास मोदी ने संभाली थी और जीतन राम और रामविलास उनके ख़ास सिपहसालार थे। हालांकि इस युद्ध में सेनापति मोदी की हार हुई थी लेकिन उनकी बहादुरी के चर्चे आज भी लोगों की ज़ुबान पर हैं।

लोगों में फैले इस भ्रम के उलट, गुप्ता जी ने अपने दावे के पक्ष में इतिहासकार डॉ. सुबरबम स्वामी के ताज़ा शोध का हवाला दिया है। डॉ. स्वामी ने ठोस सबूतों के साथ सेनापति मोदी को इस युद्ध का विजेता बताया है। उनका कहना है कि “सन् 2015 में पांच चरणों तक चले इस युद्ध में नीतीश कुमार को नाकों चने चबाने पड़े और आख़िरकार जीत एनडीए की हुई।” बिहार की नवादा सीट से सांसद और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने भी गुप्ता जी के दावे का समर्थन किया है।

गुप्ता और गिरिराज के इस दावे को चुनाव आयोग ने गंभीरता से लिया है। मुख्य चुनाव आयुक्त नसीम ज़ैदी ने कहा है कि “हम इन नये तथ्यों को राष्ट्रपति के पास भेज रहे हैं। इनमें डेढ़ साल पुरानी कुछ प्राचीन मतदाता पर्चियां भी हैं, जिनमें युद्ध में भाग लेने वाले बीजेपी के योद्धाओं का नाम लिखा हुआ है। बिहार में अनेक जगहों पर हुई खदुाई में भी कमल के निशान वाले असंख्य झंडे और बिल्ले मिले हैं। जिससे साबित होता है कि एनडीए सेना ने प्रांत के कोने-कोने में जीत हासिल की थी।”

इस युद्ध के लगभग डेढ़ साल बाद पेश किये गये इन तथ्यों से नीतीश और लालू बौखला गये हैं। वे अपनी भ्रामक जीत से जुड़े दस्तावेज़ों के साथ दिल्ली रवाना हो गये हैं। इन दस्तावेज़ों में अख़बारों की कटिंग और न्यूज़ चैनलों के प्रोग्राम्स की रिकॉर्डिंग शामिल हैं, जिनमें महागठबंधन को युद्ध में जीता हुआ दिखाया गया है।



ऐसी अन्य ख़बरें